तुर्की ने इस्लामोफोबिया के खिलाफ लड़ाई में वैश्विक एकता का आह्वान किया

इस्लामोफ़ोबिया से निपटने के लिए तुर्की ने दुनिया भर से एकजुटता की अपील की है। तुर्की के विदेश मामलों के उप मंत्री और यूरोपीय संघ के मामलों के निदेशक, राजदूत फ़ारूक कयमासी ने दुनिया भर के देशों को एकजुट होकर इस्लामोफ़ोबिया और ज़ेनोफ़ोबिया से निपटने के लिए सहयोग करने का आह्वान किया।

जिनेवा में मानवाधिकार परिषद में बोलते हुए, कायमास्की ने बताया कि जर्मनी के हानाऊ में हालिया नस्लवा’दी हम’ला इस्लामोफोबिया और ज़ेनोफोबिया के गंभीर वैश्विक स्तर को दर्शाता है। उन्होंने कहा “हमने इस्लाम के प्रति नस्लवाद और शत्रुता के इस कार्य में चार तुर्की नागरिकों को खो दिया।”

पिछले हफ्ते, एक जर्मन नागरिक, टोबीस रथजेन ने जर्मनी के हानाऊ में दो शीश बार में घुसकर ग्राहकों पर गो’लीबारी की थी। जिसमे कई लोगों की जाने गई थी।  कयमासी ने कहा कि तुर्की ने यूरोप भर में बढ़ते ज़ेनोफोबिक हमलों के साथ-साथ नस्लवाद और दुनिया भर में भेदभाव के अन्य रूपों के बारे में अपनी चिंता व्यक्त की।

उन्होंने कहा, “सभी देशों के लिए यह प्रयास है कि वे इस खतरनाक प्रवृत्ति का मुकाबला करने के लिए अपने प्रयासों को आगे बढ़ाएं। सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि एक आवाज और नस्लभेदी प्रवचन को छोड़ दें।”


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE