यूएई-इजरायल डील के खिलाफ यमन में हजारों लोगों ने निकाली रैली

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और इजरायल के बीच हाल ही में संबंधों को सामान्य बनाने के लिए हाल ही में हुए समझौते के विरोध में हज़ारों यमनियों ने दक्षिण-पश्चिमी शहर ताएज़ी में सड़कों पर उतरकर विरोध जताया।

समाचार नेटवर्क अल-मायादीन की एक रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार को प्रदर्शनकारियों ने फिलिस्तीनी लोगों के समर्थन में नारे लगाए और कहा कि इजरायल शासन के साथ संबंधों का कोई भी सामान्यीकरण “एक महान विश्वासघात था।”

यमनी प्रदर्शनकारियों ने कहा कि फिलिस्तीन का मुद्दा पूरे मुस्लिम उमा का मुख्य मुद्दा है, न कि केवल अरब दुनिया का। उन्होंने “मैं फिलिस्तीनी हूँ,” जैसे नारे लगाए। और “मैं फिलिस्तीन और अल-अक्सा मस्जिद के लिए अपने रक्त और आत्मा का बलिदान करता हूं!”

13 अगस्त को, यूएई और इजरायल शासन अपने संबंधों को सामान्य बनाने के लिये एक डील पर पहुंचे। इस डील ने मुस्लिम राष्ट्रों को नाराज कर दिया है। फिलिस्तीनी नेताओं ने इज़राइल के साथ किए गए इस समझौते को फ़िलिस्तीनियों के साथ विश्वासघात और फ़िलिस्तीनी लोगों के “पीठ में छुरा घोंपने” के रूप में वर्णित किया है।

गुरुवार को, यमन के हौथी अंसारुल्लाह आंदोलन के नेता अब्दुल-मलिक अल-हौथी ने इसराइल के साथ संयुक्त अरब अमीरात के समझौते की निंदा की।