सऊदी सरकार की बेहतरीन पहल ग्रैंड मस्जिद में छोटे बच्चो की सुरक्षा के लिए चलाया अभियान, अब नहीं खोएंगे बच्चे

0
438
Guiding Codes, bracelets for children to avoid getting lost at Makkah Haram

दो पाक मस्जिदों के मामलों के लिए जनरल प्रेसीडेंसी ने “गाइडेंस कोड” नामक एक प्रोग्राम को लागू किया है और बच्चों के लिए ब्रेस्लेट भी बनाया है खासकर उन बच्चो के लिए जो ज़ायरीनों और विज़िटर्स के साथ ग्रैंड मस्जिद में आते हो ताकि भीड़ में बच्चे के खो जाने की संभावना कम हो जाए और किसी भी तरह से बच्चे अपने माँ-बाप से अलग ना हो ।

दरअसल प्रेसीडेंसी ने गैर-अरबी भाषी बच्चों का मार्गदर्शन करने के उद्देश्य से ये कार्यक्रम शुरू किया। छोटे बच्चो के लिए जो बाहर से अपने माँ-बाप के साथ उमराह के लिए है प्रेसीडेंसी विभाग के निदेशक फहद अल-हतीर्शी ने कहा कि विभाग नाबालिग ज़ायरीनों की देखभाल करने और उन्हें सभी आवश्यक सेवाएं प्रदान करने का इच्छुक है।

विज्ञापन

इस प्रोग्राम में गाइडिंग कोड और ब्रेसलेट शामिल हैं जो ग्रैंड मस्जिद में बच्चों के आने पर उनकी कलाई पर बांधे जाते हैं। ब्रेसलेट में बच्चे के बारे में बुनियादी जानकारी होगी, जिसमें अभिभावक का मोबाइल नंबर भी शामिल होगा।

इससे बच्चे के लापता होने की स्थिति में उन तक आसानी से पहुंचने में मदद मिलेगी और बच्चे के गुम होने की संभावना भी काफी कम हो जायेगी। प्रेसीडेंसी के उप प्रमुख अमजद अल-हज़मी ने कहा कि प्रेसीडेंसी उमराह ज़ायरीनों और ग्रैंड मस्जिद के विज़िटर्स को सर्वोत्तम और बेहतरीन सेवाएं प्रदान करने की कोशिश में लगा हुआ है।

यह सामाजिक जिम्मेदारी के स्तर को बढ़ाने और प्रेसीडेंसी द्वारा प्रदान की जा रही सेवाओं और पहलों के बारे में परिचित कराने के लिए है ताकि ज़ायरीन और विज़िटर्स अपने सारे एहकाम अच्छे से पूरे कर सके और उन्हें यहां किसी भी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here