No menu items!
27.1 C
New Delhi
Tuesday, October 19, 2021

ओमान में आई भारत के गेहूं के आटे की कमी, ढूंढने पर भी नहीं मिल रहा

ओमान की भारतीय ब्रांडों के गेहूं का आटा लगभग चार सप्ताह से खत्म हो गया है और दुकानों पर यह फिर से कब आएगा। इस बारे में भी कोई जानकारी नहीं है।

राजधानी क्षेत्र की कुछ खुदरा दुकानों ने गल्फ न्यूज को बताया कि भारतीय गेहूं का आट न केवल भारतीय उपभोक्ताओं द्वारा बल्कि उपमहाद्वीप के लोगों द्वारा भी पसंद किया जाता है। पिछले कुछ समय से आशीर्वाद चक्की आटा, पारले आटा और अन्य भारतीय ब्रांडों की आपूर्ति नहीं हुई है। दुकान के एक कर्मचारी ने बताया कि उनके पास जो सूचना है उसके अनुसार आपूर्ति अस्थायी रूप से बंद कर दी गई है।

मस्कट के सबसे पुराने शाकाहारी रेस्तरां में से एक घसीटाराम हलवाई का प्रबंधन करने वाले देवानंद कहते हैं कि भारतीय आटे की अनुपलब्धता उनके जैसे रेस्तरां द्वारा महसूस की जाती है, जिनकी विशेषता फुल्का है। फुल्का एक हल्की रोटी है जिसे बिना तेल के गेहूं के आटे से बनाया जाता है और भारत और उपमहाद्वीप के अधिकांश लोगों द्वारा इसका सेवन स्वास्थ्य लाभ के लिए किया जाता है।

उन्होने कहा, “अब हम स्थानीय बाजार में उपलब्ध अन्य आटे का उपयोग कर रहे हैं, जिसकी सिफारिश कुछ लोगों ने की है। यह समय की बात है जब हम इसका इस्तेमाल करेंगे क्योंकि कोई अन्य व्यवहार्य विकल्प नहीं है। ”

डाउन टाउन रुवी में हरिदास नेन्सी, जो कई तरह के भारतीय ब्रांड बेचताहै, के पास भारतीय गेहूं के आटे के ब्रांडों का कोई स्टॉक नहीं है। स्टोर में अब जो उपलब्ध है वह एक स्थानीय ब्रांड चक्की आटा है।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get in Touch

0FansLike
2,986FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Posts