कोरोना महामारी के बीच मुहर्रम के लिए कर्बला में इकठ्ठा हो रहे शिया जायरीन

हर साल की तरह इस साल भी मुहर्रम के पवित्र महीने में गम मनाने के लिए शिया जायरीन शुक्रवार को इराकी शहर कर्बला में इकठ्ठा हुए। हालांकि कोरोना महामारी को लेकर लोगों से घरों पर रहने की अपील की गई थी।

पैगंबर मोहम्मद (सल्ल) के नवासे हजरत इमाम हुसैन की याद को मनाने के लिए मुहर्रम के पहले 10 दिनों में हर साल, दुनिया भर के लाखों शिया मुस्लिम कर्बला पहुँचते है।

इराकी और ईरानी अधिकारियों ने महामारी के कारण इस वर्ष लोगों से तीर्थयात्रा में शामिल नहीं होने का आह्वान किया है। ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनेई ने सामान्य समारोहों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

लेबनान में, हिजबुल्लाह ने घोषणा की कि कोई भी बड़ा टेंट नहीं लगाया जाएगा और इस अवसर को चिह्नित करने का परिवार अपने ही घर में मनाएंगे।

वहीं बहरीन में, शिया उपासकों ने टेलीविजन पर मोहर्रम की स्मृतियों को देखा और स्थानीय अधिकारियों द्वारा मस्जिद में उपस्थिति को प्रतिबंधित कर दिया गया।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE