सऊदी अरब भारतीय प्रवासियों को देगा नागरिकता! नियमों में किए बड़े बदलाव

0
227
King Salman orders to start Eid al-Fitr holiday from April 21, so many days will remain in private sector

सऊदी अरब की नागरिकता हासिल करना काफी कठिन है. लेकिन हाल ही में सऊदी अरब ने सऊदी के बाहर के लोगों को नागरिक्ता देने के नियम में बदलाव किया है. जिससे विदेशियों के साथ भारत के लोगों को भी फायदा होगा. नए नियम के मुताबिक सऊदी सरकार उन लोगों को नागरिकता देगी जिन लोगों की मां सऊदी मूल की हैं.

सऊदी मीडिया के मुताबिक सऊदी अरब के उप प्रधानमंत्री मोहम्मद बिन सलमान ने सऊदी अरब नागरिकता के ताल्लुक से आर्टिकल 8 में बदलाव को मंजूरी दी है. नए बदलाव के तहत जिन लोगों के पिता विदेशी हैं लेकिन उनकी मां सऊदी अरब मूल की हैं वह सऊदी की नागरिकता के लिए अप्लाई कर सकते हैं. इसके अलावा जो शख्स नागरिक्ता के लिए आवेदन कर रहा है उसकी उम्र 18 साल होनी चाहिए. नागरिकता पाने के लिए सऊदी अरब के सभी मानकों पर खरा उतरना जरूरी है.

नागरिकता को लेकर सऊदी के कानून में किए गए बदवाव का फायदा भारत के लोगों को भी मिलेगा है. इसकी वजह यह है कि भारत के अच्छे खासे लोग सऊदी अरब में रहते हैं. एक डेटा के मुताबिक सऊद अरब में 25 लाख से ज्यादा भारतीय प्रवासी सऊदी में रहते हैं. इनमें से कई ऐसे हैं जिन्होंने सऊदी अरब की औरतों से शादी की है. सऊदी औरतों से शादी करने में कोई दिक्कत नहीं लेकिन उनकी औलाद को सऊदी की नागरिकता से महरूम रखा जाता था. लेकिन सऊदी सरकार के नए फैसले से कई भारतीयों को फायदा मिलेगा.

विज्ञापन

सऊदी अरब की नागरिकता पाना थोड़ा पेचीदा है. अगर कोई शख्स सऊदी की नागरिकता के लिए अपलाई कर रहा है तो सबसे पहले उसे अरबी जबान आनी चाहिए. अप्लाई करने वाले शख्स का कैरेक्टर अच्छा होना चाहिए. उस पर कोई केस न चल रहा हो. इससे पहले कभी 6 महीने तक जेल में न रहा हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here