सऊदी अरब ने मक्का, मदीना को छोड़ सभी मस्जिदों में लगाई नमाज पर पाबंदी

सऊदी अरब ने मंगलवार को घोषणा की कि मस्जिदों में अब समूहिक रूप से पांचों वक्त और जुम्मे की नमाज अदा नहीं होगी। दरअसल, कोरोनोवायरस के प्रसार को सीमित करने में मदद करने के लिए असाधारण उपाय के तहत ये कदम उठाया गया है।

समाचार एजेंसी एसपीए ने बताया कि राज्य की सर्वोच्च धार्मिक संस्था काउंसिल ऑफ सीनियर स्कॉलर्स के एक फैसले का हवाला देते हुए कहा, मक्का और मदीना में दो पवित्र मस्जिदों में नमाज जारी रहेगी। एसपीए ने कहा कि मस्जिदें अस्थायी रूप से अपने दरवाजे बंद कर देंगी लेकिन लोगों को जागरूकना जारी रखेंगी, जो लोगों को मस्जिद में आने के बजाय अपने घरों में नमाज अदा करने के लिए निर्देशित करेगा।

इस्लामिक मामलों के मंत्री अब्दुलातिफ अल-शेख ने राज्य टेलीविजन को बताया कि मस्जिदों में मृतकों को गुसल देने की सुविधा जो उनके पास है, वे खुले रहेंगे, लेकिन कुछ लोगों के लिए उपयोग प्रतिबंधित होगा। उन्होंने कहा कि कब्रिस्तान में मृतकों के लिए नमाज ए जनाजा की अनुमति दी जाएगी, मस्जिदों में नहीं।

सऊदी अरब ने 133 सूचित संक्रमणों और मौ’तों के साथ, कोरोनोवायरस के प्रसार से निपटने के लिए कठोर कदम उठाए हैं, जिसमें उमरा तीर्थयात्रा को निलंबित करना, सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को रोकना और अधिकांश सार्वजनिक प्रतिष्ठानों को बंद करना शामिल है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]