सऊदी अरब बोला – तेल बाजार में सुधार के लिए हमने सबसे ज्यादा कु’र्बानी दी

सऊदी ऊर्जा मंत्री प्रिंस अब्दुलअज़ीज़ बिन सलमान ने कहा कि तेल बाजार में सुधार के लिए सऊदी अरब ने सबसे अधिक बलिदान दिया है, और इसके बिना तेल बाजार में सुधार नहीं होता।

मंत्री ने रविवार को अल-अराबिया टीवी के साथ एक साक्षात्कार के दौरान कहा कि ओपेक+ देशों के बीच एक राष्ट्र को छोड़कर, ओपेक+ डील के विस्तार को लेकर सहमति है। इस दौरान उन्होने उस देश का नाम नहीं लिया।

उन्होने कहा, “अगर किसी देश में आरक्षण है, तो वे पहले उनके बारे में चुप क्यों रहे? मैं एक संतुलित देश का प्रतिनिधित्व करता हूं जो ओपेक+ के अध्यक्ष के रूप में अपनी भूमिका में सभी के हितों को मानता है।” मंत्री ने यह भी कहा कि वह ओपेक+ की आगामी बैठक को लेकर बहुत आशान्वित नहीं हैं।

प्रिंस अब्दुलअज़ीज़ ने कहा, “मैं 34 वर्षों से ओपेक+ की बैठकों में भाग ले रहा हूं और ऐसी मांग कभी नहीं देखी है, मैं आगामी ओपेक+ बैठक के बारे में न तो आशावादी हूं और न ही निराशावादी हूं।”

प्रिंस अब्दुलअज़ीज़ ने कहा कि कोई भी देश एक महीने में अपने उत्पादन स्तर को संदर्भ के रूप में नहीं ले सकता है। उन्होने कहा, “सऊदी अरब और रूस ओपेक+ समझौते का विस्तार करने और उत्पादन बढ़ाने के प्रस्ताव में भागीदार हैं।”