सऊदी में भारतीय प्रवासियों से मिले विदेश मंत्री, बोले- ‘जो कोई नहीं कर पाया, वो भारत ने कर दिखाया’

0
122

केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर आज अपने तीन दिवसीय दौरे के तहत सऊदी अरब पहुंचे. बतौर विदेश मंत्री सऊदी अरब की उनकी यह पहली यात्रा है. अपनी यात्रा के पहले दिन उन्होंने रियाद में भारतीय समुदाय को संबोधित किया. विदेश मंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि हम वंदे भारत मिशन के तहत दुनियाभर से 70 मिलियन लोगों को वापस लाए. किसी भी देश ने ऐसा नहीं किया, यह कोविड के दौरान की गई सबसे बड़ी निकासी है. आज भारत को दुनिया इसी नजर से देखती है.

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कोरोना के खिलाफ भारत द्वारा चलाए जा रहे वैक्सीन अभियान के बारे में कहा कि वह आज जिस भी देश में जाते हैं तो देखते हैं कि कई देशों में लोगों को टीका नहीं लगया गया है क्योंकि उनके पास यह नहीं था. उन्होंने कहा कि जिन देशों के पास सबकुछ था लेकिन फिर भी लोगों को वैक्सीन नहीं लगाई गई. यह वह अंतर था जिसे हमने पार किया. भारत ने जहां अपने खुद की टीके तैयार किए और लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए प्रेरित किया. उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों के दौरान, हमने अपनी अंतरराष्ट्रीय दोस्ती देखी है. सऊदी अरब बहुत मददगार था, उसने हमें जरूरत के समय ऑक्सीजन की आपूर्ति की थी. कोरोना महामारी की शुरुआत के दो साल बाद हम इससे निपटने में सफल रहे हैं.

विदेश मंत्री एस जयशंकर अपने तीन दिवसीय दौरे के तहत आज सऊदी अरब पहुंचे हैं. जयशंकर की इस यात्रा से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय साझेदारी को और अधिक मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा होगी. इसके अलावा, भारत और सऊदी अरब के बीच रणनीतिक साझेदारी परिषद की रूपरेखा के तहत राजनीतिक, डिफेंस, सामाजिक और सांस्कृतिक समिति की पहली मंत्री स्तरीय बैठक होनी है. विदेश मंत्री इस बैठक की अध्यक्षता करेंगे.

विज्ञापन

इसके अलावा दोनों देशों के बीच संयुक्त राष्ट्र, जी20 और जीसीसी में सहयोग और परस्पर हितों के लिए कई क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर भी चर्चा होगी. विदेश मंत्री एस जयशंकर खाड़ी सहयोग परिषद के महासचिव नायेफ फलाह मुबारक अल-हजरफ से भी मुलाकात करेंगे. इसके अलावा वह अपनी इस यात्रा के दौरान सऊदी अरब के कई अन्य गणमान्य लोगों से भी मुलाकात करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here