हज से 2 दिन पहले सऊदी अरब ने किया 120 से अधिक लोगों को गि’रफ्तार, ये है वजह

हज से दो दिन पहले सऊदी अरब ने गुरुवार को फर्जी को’रोनावाय’रस वैक्सीन और टेस्ट रिपोर्ट की खरीद के संदेह में 120 से अधिक लोगों को गिरफ्ता’र किया है।

समाचार एजेंसी एसपीए ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय के 9 अधिकारी भी आरोपियों में शामिल हैं, जिन्होंने सभी को दो’षी ठहराया है। दरअसल हज के दौरान वैक्सीन प्रमाण पत्र अनिवार्य है। लगभग 60,000 सऊदी निवासी इस साल हज में शामिल होंगे, दूसरी बार महामारी के कारण हज में बड़े पैमाने पर कटौती की गई है।

फर्जी प्रमाण पत्र मामले में संदिग्धों पर आरोप है कि उन्होंने अपनी सेवाओं का विज्ञापन करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया। जिनमे 21 लोग – 9 सऊदी नागरिक और 12 निवासी – पर धोखाधड़ी में मध्यस्थ के रूप में कार्य करने का आरोप है। अवैध सेवाओं का उपयोग करने के आरोपी 76 नागरिक और 16 निवासी हैं।

सऊदी अधिकारियों ने जुलाई में घोषणा की कि स्वास्थ्य मंत्रालय के दो अधिकारी अवैध रूप से को’रोनावा’यरस डेटा को बदलने की एक समान साजिश में गिर’फ्तार किए गए कई संदिग्धों में से थे। उस मामले में एक आपरा’धिक जांच शुरू की गई थी, लेकिन संदिग्धों की संख्या का खुलासा नहीं किया गया था।

गुरुवार को प्रकाशित स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, 34 मिलियन लोगों के खाड़ी देश में 21 मिलियन से अधिक कोरो’नावायरस वैक्सीन लग चुकी है।