सऊदी अरब: भगोड़े कर्मचारियों को पनाह देना पड़ा महंगा, प्रवासियों पर आई आफत

सऊदी सुरक्षा अधिकारियों ने अवैध रूप से अनुपस्थित कर्मचारियों को पनाह देने के आरोप में दो इंडोनेशियाई प्रवासियों को गि’रफ्तार किया। ये जानकारी एक पु’लिस अधिकारी ने दी।

स्थानीय पु’लिस के प्रवक्ता कप्तान कैप्टन तारिक अल नसर ने कहा, दो अप’राधियों उत्तर पश्चिमी सऊदी अरब में H’ail के क्षेत्र में 11 महिला कर्मचारियों को पनाह देने के लिए गिर’फ्तार किया गया, जो राज्य के निवास और श्रम प्रणाली के उल्लंघन में काम से खुद को अनुपस्थित करते थे।

छापेमारी के दौरान पु’लिस ने दोनो से 41,193 रियाल भी बरामद की है। अधिकारी ने कहा, “उनके साथ अनुशासनात्मक प्रक्रियाएं अपनाई गईं और उन्हें ट्राइल के लिए भेजा गया।”

पिछले नवंबर में, सऊदी अरब ने प्रमुख श्रम सुधारों को शुरू किया, नौकरी की गतिशीलता की अनुमति दी और नियोक्ता की मंजूरी के बिना प्रवासी श्रमिकों के लिए निकास और पुन: प्रवेश वीजा जारी करने को विनियमित किया।

राज्य में लाखों प्रवासी कामगार मार्च में लागू हुए सुधारों से लाभान्वित हो रहे हैं। उल्लेखनीय है कि सऊदी अरब में प्रवासी कामगारों को नियोक्ता के अधीन की गई शर्तों पर कार्य करना पड़ता है।