क़तर ने दी तुर्की को अरबों डॉलर की मदद, एर्दोगान कभी नहीं भूलेंगे एहसान

राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि कतर ने तुर्की के सरकारी स्वामित्व वाली टैं’क ट्रैक फैक्ट्री में 49 प्रतिशत धन लगाया है।

देश के उत्तर-पश्चिमी साकार्य प्रांत में एक टैं’क ट्रैक कारखाने में बोलते हुए, एर्दोगन ने कहा कि कारखाना राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय से संबंधित है, जिसे तुर्की के ट्रेजरी और वित्त मंत्रालय द्वारा आवंटित किया गया है, और कहा: “दूसरे शब्दों में, यह स्थान एक राज्य की संपत्ति है।”

हालांकि कतर ने परियोजना का 49 प्रतिशत वित्तपोषित किया।

एर्दोगन ने जोर देकर कहा, “मजबूत रक्षा उद्योग के बिना हम अपनी आजादी और भविष्य नहीं पा सकते हैं।” उन्होंने कहा कि फैक्ट्री ने फर्टीना हॉवित्जर और पोयराज़ गोला बारू;द वाहक वाहनों का डिजाइन और उत्पादन किया, साथ ही साथ वाहन पटरियों को डिजाइन, उत्पादन और नवीनीकरण भी किया।

उन्होंने कहा, “हम यहां अल्ताई टैं’क बनाने की योजना बना रहे हैं।” उन्होने कहा, “मुझे उम्मीद है कि हम 2023 में जल्द से जल्द से’ना को टैं’क पहुंचा देंगे।”

तुर्की और कतर रणनीतिक साझेदार हैं जो रक्षा सहित कई मुद्दों पर सहयोग करते हैं, जहां अंकारा ने सहयोगी दलों द्वारा हस्ताक्षरित सै’न्य सौदों के हिस्से के रूप में पिछले साल कतर को यु’द्धपोत ‘दोहा’ दिया था।