पहली बार कतर में इस्लामिक शिक्षा को सभी निजी स्कूलों में किया गया अनिवार्य

कतर के शिक्षा और उच्च शिक्षा मंत्रालय ने निजी स्कूलों को अरबी भाषा, इस्लामी शिक्षा और कतरी इतिहास को अनिवार्य विषयों के रूप में सूचीबद्ध करने का निर्देश दिया है।

कतर न्यूज एजेंसी (क्यूएनए) ने कल बताया कि यह पहली बार है कि स्कूल किंडरगार्टन और प्री-स्कूल स्तर से अरबी भाषा और इस्लामी शिक्षा विषयों के शिक्षण को लागू करने के लिए बाध्य हैं। मंत्रालय के निजी शिक्षा क्षेत्र के निजी स्कूल मामलों के विभाग से इस संबंध में ऐसे सभी स्कूलों और किंडरगार्टन को एक परिपत्र भेजा गया है।

तीन अनिवार्य विषयों के लिए तीन अलग-अलग पीरियड शुरू करने के निर्देश दिये गए और प्रत्येक छात्र को मंत्रालय द्वारा अनुमोदित शैक्षिक संसाधनों की एक मूल प्रति प्रदान की जानी चाहिए। छात्रों के शैक्षिक मूल्यांकन के परिणाम के अनुसार उनके कौशल में लगातार सुधार और अद्यतन करते हुए इन विषयों को पढ़ाने के लिए विशेष कर्मचारियों को नियुक्त किया जाना है।

निजी स्कूल विभाग कक्षा 1 से 12 तक के पाठ्यक्रम में अनिवार्य विषयों को शामिल करने के संबंध में निरीक्षण करेगा। यह उसी नीति का अपडेट है जो शैक्षणिक वर्ष 2019-2020 के लिए जारी की गई थी।

2021 की शिक्षा नीति में कहा गया है और इस निर्णय का उद्देश्य बच्चों में राष्ट्रीय पहचान और धार्मिक मूल्यों की भावना पैदा करना है। वर्तमान में क़तर में कुल 337 निजी क्षेत्र के स्कूल और किंडरगार्टन संचालित हैं।