जब प्रदर्शनकारियों ने घेरा राष्ट्रपति का घर तो ऐसे आवास छोड़कर भागे राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे

0
152

जैसा कि आप जानते है कि श्रीलंका पिछले कई महीनों से आर्थिक संकट से जूझ रहा है। देश के हाल इतने बुरे है कि पूरे देश में खाने से लेकर ईंधन तक की कमी पैदा हो गई है। यहां तक कि घरों में बिजली तक सिर्फ कुछ ही घंटों के लिए आ रही है। श्रीलंका के लगातार घटते विदेशी मुद्रा भंडार की वजह से वह मेडिकल से जुड़े जरूरी सामान तक नहीं आयात कर पा रहा है। ऐसे में श्रीलंकावासियों का गुस्सा सातवे आसमान पर पंहुच चुका है जिसके चलते श्रीलंका में काफी हंगामे की स्थिति बनी हुई है।

देशभर में तेल और बाकी जरूरत के सामान की कमी के बीच लोग एक बार फिर सड़कों पर हैं। श्रीलंका के लगातार घटते विदेशी मुद्रा भंडार की वजह से वह मेडिकल से जुड़े जरूरी सामान तक नहीं आयात कर पा रहा है। ऐसे में प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने शनिवार को राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे के इस्तीफे की मांग के साथ उनके आवास का घेराव कर लिया। न्यूज एजेंसी एएफपी के मुताबिक, ये प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति के घर में घुसने की कोशिश करने लगे, जिसके बाद राजपक्षे अपना आवास छोड़कर भागने पर मजबूर हो गए।

श्रीलंका के एक टीवी चैनल सिरासा टीवी की ओर से जारी फुटेज में तो भीड़ को राष्ट्रपति आवास के अंदर घुसते भी देखा जा सकता है। इसके बाद सुरक्षाबलों ने राष्ट्रपति को आवास से बाहर निकाल कर सुरक्षित स्थान तक पहुंचाया। सुरक्षाबल पानी की बौछारों और आंसू गैस के गोले छोड़कर भीड़ को तितर-बितर करने की कोशिश करती रही। अब तक की मिली जानकारी के मुताबिक प्रदर्शन के दौरान पुलिसकर्मियों को मिलाकर करीब 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

बता दें कि शुक्रवार को पुलिस ने कर्फ्यू लगाने से पहले कोलंबो में छात्र प्रदर्शनकारियों के खिलाफ आंसू गैस के गोले दागे और पानी की बौछारें कीं. बताया जा रहा है कि  सरकार विरोधी प्रदर्शन में धार्मिक नेताओं, राजनीतिक दलों, शिक्षकों, किसानों, चिकित्सकों, मछुआरों और सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हैं.

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here