ज़ायरीनों को बेहतरीन सुविधा देने के लिए किंग अब्दुल्ला प्रोग्राम के तहत हर दिन 200,000 ज़मज़म बोतलों का उत्पादन हुआ शुरू

0
413
Production of 200,000 Zamzam bottles per day begins under King Abdullah Program to provide better facilities to pilgrims

रमजान के शुरू होते ही उमराह ज़ायरीनों की तादाद बढ़ जाती है और इस बार ये तादाद इसलिए भी ज़्यादा है क्योकि कोरोना के चलते पहले दो साल गाइडलाइन्स की वजह से उमराह उस तरह से नहीं हो पाया था जैसे पहले होता था. जिसके चलते ज़मज़म पानी की डिमांड भी बहुत बढ़ जाती है इस डिमांड को पूरा करने के लिए और हर ज़ायरीन और विज़िटर्स को इसकी आपूर्ति हो सके इसके लिए एक प्रोग्राम King Abdullah Bin अब्दुलअज़ीज़ नामक चलाया जा रहा है जिसमे ज़मज़म को बांटना शामिल है।

Production of 200,000 Zamzam bottles per day begins under King Abdullah Program to provide better facilities to pilgrims

विज्ञापन

इस प्रोग्राम के जनरल एडमिनिस्ट्रेशन ने पैकिंग प्लांट में सभी उत्पादन लाइनों की तैयारी की पुष्टि की है, जिसमें प्रति दिन 200,000 पांच-लीटर की अधिकतम क्षमता का उत्पादन करना है, इस प्रोग्राम के तहत 2 मिलियन से अधिक बोतलों की आपूर्ति को पूरा करना है जिससे डेली आपूर्ति को पूरा किया जा सके।

दो पाक मस्जिदों के मामलों के प्रेसीडेंसी के अध्यक्ष शेख डॉ अब्दुल रहमान बिन अब्दुलअज़ीज़ अल-सुदैस के निर्देशों के कार्यान्वयन में आता है. जो ज़मज़म को बांटने के लिए राजा अब्दुल्ला बिन अब्दुलअज़ीज़ प्रोग्राम की समिति के अध्यक्ष भी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here