श्रीलंका ने मुसलमानों के अपमान को लेकर की जांच शुरू, ये है बड़ी वजह

श्रीलंका की से’ना ने रविवार को एक जांच शुरू की, यह जांच सैनि’कों को अल्पसंख्यक मुसलमानों को सड़कों पर घुटने टेकने के लिए मजबूर करने से जुड़ी है। यह घटना को’रोना लॉकडाउन के दौरान सामने आई थी। घटना से जुड़े VIDEO सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे।

सश’स्त्र सैनि’कों ने मुस्लिम नागरिकों को राजधानी कोलंबो से लगभग 300 किलोमीटर (190 मील) पूर्व में, एरावुर शहर में एक सड़क पर घुटने टेकते हुए हवा में हाथ उठाने का आदेश दिया था।

स्थानीय निवासियों ने कहा कि वे इस आदेश को अपमानजनक मानते हैं, जबकि अधिकारियों ने स्वीकार किया कि सै’निकों के पास इस तरह की स’जा देने की कोई शक्ति नहीं है। बता दें कि दो पीड़ित खाना खरीदने के लिए रेस्तरां जा रहे थे।

से’ना ने एक बयान में कहा, “इरावुर इलाके में कथित उत्पी’ड़न की कुछ तस्वीरें वायरल होने के बाद एक प्रारंभिक सै’न्य पु’लिस जांच शुरू हो चुकी है।” प्रभारी अधिकारी को हटा दिया गया है और इसमें शामिल सैनि’कों को शहर छोड़ने का आदेश दिया गया है।

से’ना ने अपनी खुद की जांच करने की इच्छा के दुर्लभ प्रदर्शन में कहा, “से’ना सभी गलत सै’न्य कर्मियों के खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई अपनाएगी।”