27वी शब के लिए ग्रैंड मस्जिद में तैयारियां हुई मुक्कम्मल, लगातार स्टरलाइजेशन का काम है जारी, देखे फोटोज

0
433

रमजान का तीसरा अशरा सबसे महत्वपूर्ण होता है इसके साथ ही इसमें पांच खास शबकदर होती है जिनमे से एक लैलतुल कदर की रात होती है, जिस किसी को लैलतुल कदर की रात मिल जाती है उसकी हर मंशा पूरी हो जाती है इसके साथ ही इस रात को इन पांच रातो में ढूंढ़ना होता है जिसमे से 27वी शब ख़ास होती है बहुत से लोगो का मानना है की 27वी शब में ही लैलतुल कदर होती है।

विज्ञापन

रमजान की 27वीं रात के लिए दो पाक मस्जिदों के मामलों के लिए जनरल प्रेसीडेंसी की तैयारी के परिणामस्वरूप मक्का में ग्रैंड मस्जिद दुनिया में सबसे अधिक sterilized placeवाली जगह बन गई है। तैयारियों के बीच प्रेसीडेंसी ने ग्रैंड मस्जिद के अंदर sterilization, disinfection और महामारी नियंत्रण के लिए 11 रोबोट उपलब्ध कराए हैं।

एजेंसी फॉर फील्ड सर्विसेज एंड अफेयर्स ने कहा कि ये रोबोट प्रदान करना राष्ट्रपति द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं के एक पैकेज का हिस्सा है, जो रमजान के पाक महीने की 27 तारीख की रात को तरावीह की नमाज अदा करने के लिए इबादतगुज़ारो को हर तरह की सुविधा प्रदान करना है।

ग्रैंड मस्जिद और उसके बाहरी यार्ड और शौचालयों के सभी हिस्सों के sterilization में चौबीसों घंटे काम करने वाले 700 लेबर और 100 से अधिक सुपरवाइजर की भागीदारी के अलावा, ग्रैंड मस्जिद की sterilizationके लिए 70 से अधिक कार्यबल निरंतर लगा हुआ है।

एजेंसी ने इस बात पर जोर दिया कि रोबोट 6 स्तरों के अलावा, automated control system के साथ काम करते हैं, जो एक स्वस्थ पर्यावरणीय वातावरण की सुरक्षा में सुधार लाने का काम करता है और साथ ही साथ ही स्टरलाइजेशन कीआवश्यकताओं को भी पूरा करने में मदद करता है

गौरतलब है कि मक्का की ग्रैंड मस्जिद की sterilization के लिए मुहैया कराए गए इन रोबोटों को पहले एसएलएएम पेटेंट मिला था, क्योंकि एक रोबोट मानव की आवश्यकता के बिना 5-8 घंटे काम कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here