हिंदू विरोधी पोस्टर लगाने वाले नेता को इमरान खान की पार्टी ने किया निलंबित

लाहौर:  प्रधानमंत्री इमरान खान नीत सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ने अल्पसंख्यक हिंदुओं को निशाना बनाकर लगाए गए अपमानजनक पोस्टरों को लेकर अपने लाहौर महासचिव को निलंबित कर दिया है।

जानकारी के अनुसार, मियां अकरम उस्मान ने कश्मीर एकजुटता दिवस के सिलसिले में पोस्टर लगाया था। पूरे देश में पांच फरवरी को कश्मीर एकजुटता दिवस मनाया गया था। पोस्टर पर हिंदू बात से नहीं लात से मानता है’ नारा लिखा था। सोशल मीडिया पर इस नारे को लेकर उस्मान की आलोचना होने के बाद पार्टी ने पोस्टर के लिए माफी मांगी। ये पोस्टर लाहौर में सार्वजनिक स्थलों पर लगाए गए थे।

पार्टी ने अब उस्मान को एक कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है। यह विषय एक विशेष कमेटी को भेजा गया है। हालांकि, उस्मान ने इन अपमानजनक पोस्टरों के लिए प्रिंटर को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि वह (भारत के) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाना चाहते थे, लेकिन प्रिंटर ने गलती से ‘मोदी’ शब्द की जगह ‘हिंदू’ शब्द को ले लिया।

उन्होंने ट्वीट किया कि मैं सीमा के दोनों ओर रहने वाले सभी शांतिपूर्ण हिंदुओं से माफी मांगता हूं। मेरी जानकारी में आने पर सभी पोस्टरों को फौरन हटा लिया गया। मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने गुरुवार को एक ट्वीट में कहा कि उस्मान को फटकार लगाई गई और पोस्टर तुरंत हटा दिए गए। उन्होंने इसे व्यक्ति द्वारा शर्मनाक और अज्ञानतापूर्ण दृष्टिकोण करार दिया।

बैनर में पार्टी के लाहौर के महासचिव उस्मान के साथ इमरान खान और पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीरें भी लगी हुईं थीं। इन पोस्टर में लिखा था, ‘‘हिंदू बात से नहीं, लात से मानता है।’’


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE