ऑक्सीज़न संकट में भारत को मिला सऊदी अरब का साथ, जल्द करेगा 80MT की आपूर्ति

महा’मारी के बीच देश में आए ऑक्सीज़न संकट से निपटने के लिए भारत को सऊदी अरब का साथ मिला है। सऊदी अरब की और से तत्काल 80MT लिक्विड ऑक्सीज़न की आपूर्ति की घोषणा की गई है।

रियाद में भारतीय दूतावास ने घोषणा करते हुए कहा कि सऊदी अरब में एक कंपनी से लगभग 80MT तरल ऑक्सीजन भारत आने की उम्मीद है। इसके अलावा सिंगापुर से भारतीय वायु सेना द्वारा चार क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंक लिए गए।

ऑक्सीजन के परिवहन के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले टैंकों को सिंगापुर के चांगी हवाई अड्डे से भारतीय वायु सेना (IAF) C-17 में लाया गया था जो शनिवार को पश्चिम बंगाल के पनागर हवाई अड्डे पर उतरा। नई दिल्ली में सिंगापुर के दूतावास ने एक बयान में कहा, “हम कोवि’द -19 के खिलाफ अपनी लड़ा’ई में भारत के साथ खड़े हैं।”

सिंगापुर के अलावा, संयुक्त अरब अमीरात सरकार भी ऑक्सीजन टैंकरों के हस्तांतरण के लिए भारतीय दूतावास के अधिकारियों के साथ समन्वय कर रही है, और यूरोपीय संघ और रूस को ऑक्सीजन से संबंधित और दवा आपूर्ति दोनों भेजने की उम्मीद है।

सहायता की पेशकश करने वालों में, एक चैरिटी समूह, पाकिस्तान के अब्दुल सत्तार एधी फाउंडेशन, ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा जिसमें 50 एम्बुलेंस और आपातकालीन स्टाफ की पेशकश की गई। शनिवार को, पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने “भारत के लोगों के साथ एकजुटता व्यक्त की।” खान ने कहा, “हमें इस वैश्विक चुनौती का मुकाबला मानवता के साथ मिलकर करना चाहिए।”