No menu items!
29.1 C
New Delhi
Saturday, October 23, 2021

20 से अधिक अमेरिकी सांसदों ने ब्लिंकन से पत्र लिख, इस्ला’मोफोबिया से निपटने के लिए विशेष दूत की नियुक्ति की मांग की

दो दर्जन से अधिक अमेरिकी सांसदों के एक समूह ने विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन को पत्र लिखकर उनसे चीन, भारत और म्यांमार सहित दुनिया के विभिन्न हिस्सों में मुस्लिम समुदाय के खिलाफ ह’मलों में कथित वृद्धि का मुकाबला करने के लिए एक विशेष दूत नियुक्त करने का आग्रह किया है।

इस्लामोफोबिया को एक “वैश्विक समस्या” करार देते हुए, सांसदों ने बुधवार को लिखे अपने पत्र में, दुनिया भर में इसका मुकाबला करने के लिए अमेरिकी नेतृत्व स्थापित करने के लिए एक व्यापक रणनीति का आह्वान किया। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि राज्य प्रायोजित इस्लामो’फोबिक हिं’सा और ऐसे कृत्यों के लिए दं’ड अगले साल की वार्षिक मानवाधिकार रिपोर्ट में शामिल किया जाए।

यह पत्र काउंसिल ऑन अमेरिकन इस्लामिक रिलेशंस (सीएआईआर) के नए निष्कर्षों के बाद आया है जिसमें दिखाया गया है कि मुस्लिम विरो’धी नफरत बढ़ रही। उन्होंने अकेले 2021 में 500 से अधिक प्रलेखित शिकायतों को शामिल किया। इनमें मई और जून में मस्जिद विरो’धी घटनाओं में अचानक वृद्धि शामिल है।

सांसदों ने अपने पत्र में कहा, “अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता और मानवाधिकारों के प्रति हमारी प्रतिबद्धता के हिस्से के रूप में, हमें इस्लामोफो’बिया को एक ऐसे पैटर्न के रूप में पहचानना चाहिए जो दुनिया के लगभग हर कोने में दोहराया जा रहा है।” उन्होंने कहा, “संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए सभी के लिए धार्मिक स्वतंत्रता के पक्ष में मजबूती से खड़े होने और इस्ला’मोफोबिया की वैश्विक समस्या को ध्यान और प्राथमिकता देने का समय आ गया है।”

सांसदों ने कहा, “चीन में उइगरों और बर्मा (म्यांमार) में रोहिंग्याओं के खिलाफ चल रहे अत्या’चार अप’राधों से लेकर भारत और श्रीलंका में मुस्लिम आबादी पर महत्वपूर्ण प्रति’बंधों तक, राजनेताओं द्वारा इस्ला’मोफोबिया को बढ़ावा देने के लिए जो अग्रणी है। उत्तर अमेरिकी और यूरोप में हिं’सा, पाकिस्तान और बहरीन में मुसलमानों के कुछ संप्रदायों के खिलाफ गंभीर मानवाधिकारों के उ’ल्लंघन के लिए, यह वास्तव में एक वैश्विक समस्या है जिससे संयुक्त राज्य अमेरिका को विश्व स्तर पर निपटना चाहिए।

उन्होने कहा, “इस कारण से, हम आपको इस्लामोफोबिया की निगरानी और मुकाबला करने के लिए एक विशेष दूत नियुक्त करने और अगले साल की वार्षिक मानवाधिकार रिपोर्ट में विशेष रूप से मुस्लिम विरोधी हिं’सा को शामिल करने के लिए दृढ़ता से आग्रह करने के लिए लिख रहे हैं।”

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get in Touch

0FansLike
2,989FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Posts