ओमान जुटा यमन संकट को हल करने में, हौथियों ने विदेश मंत्री के सामने रखी ये शर्त

ओमानी विदेश मंत्री सैय्यद बद्र अल-बुसैदी ने मस्कट में अपने यमनी समकक्ष अहमद अवद बिन मुबारक से मुलाकात की और यमन संकट को हल करने के के उद्देश्य से अंतरराष्ट्रीय प्रयासों पर चर्चा की।

यमनी मंत्री शनिवार को मस्कट पहुंचे। उन्होंने कहा कि उनकी यात्रा, जो उनके खाड़ी दौरे का हिस्सा है, का उद्देश्य दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करना है। हालांकि इस दौरान हौथि’यों ने किसी भी सं’घर्ष विराम समझौते से पहले सना में हवाई अड्डे को फिर से खोलने की बार-बार मांग की है।

ओमान, जो यमन और सऊदी अरब दोनों की सीमा में है, अमेरिका का करीबी सहयोगी है, लेकिन साथ ही ईरान के साथ उसके अच्छे संबंध हैं। इसने क्षेत्रीय संघर्षों में नियमित रूप से मध्यस्थ की भूमिका निभाई है।

मस्कट ने हाल के हफ्तों में यमन ने अमेरिकी दूत मार्टिन ग्रिफिथ्स  और संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत टिम लेंडरिंग की मेजबानी की है, जबकि ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने अप्रैल के अंत में ओमान में अब्दुल सलाम से मुलाकात की थी।

हौ’थी सदस्यों के साथ सना में बातचीत के बाद, सोमवार को ग्रिफिथ्स ने प्रतिद्वंद्वी यमनी बलों से यु’द्धविराम तक पहुंचने के लिए “अंतर को पाटने” का आग्रह किया।