न्यूजीलैंड में कोरोना की जीती जंग, Covid-19 वायरस हुआ पूरी तरह से खत्म

न्यूजीलैंड ने कोरोना वायरस को मात दे दी है। हेल्थ डिपार्टमेंट ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी है कि न्यूजीलैंड में अब COVID-19 का कोई भी एक्टिव केस नहीं है।

न्यूज एजेंसी एएफपी के मुताबिक, हेल्थ डिपार्टमेंट के डायरेक्टर जनरल एश्ले ब्लूमफील्ड ने इस बारे में कहा, ”28 फरवरी के बाद पहली बार किसी एक्टिव केस का न होना, निश्चित तौर पर हमारी यात्रा का अहम पड़ाव है।” न्यूजीलैंड के स्वास्थ्य अधिकारी ने जानकारी दी कि कोविड-19 से पीड़ित आखिरी मरीज अब स्वस्थ हो चुका है। न्यूजीलैंड में आखिरी नया मामला 17 दिन पहले सामने आया था।

स्वास्थ्य विभाग के निदेशक एशले ब्लूमफील्ड ने कहा यह सुखदायक संकेत है। उन्होंने कहा, “फरवरी 28 के बाद देश में एक भी सक्रिय मामला नहीं होना निश्चित रूप से हमारी यात्रा में महत्वपूर्ण पड़ाव है। लेकिन जैसा कि हमने पहले भी कहा है कोविड-19 के खिलाफ जारी सतर्कता अनिवार्य रहेगी।”

28 फरवरी को न्यूजीलैंड में COVID-19 का पहला केस रिपोर्ट हुआ था। इसके बाद 14 मार्च को पीएम जेसिंडा अर्डेन ने ऐलान कर दिया था कि देश में आने हर शख्स को 2 हफ्ते सेल्फ-आइसोलेशन में बिताने होंगे। जानकारों का कहना है कि उस समय देश में सिर्फ 6 मामले थे, लेकिन सीमा पर लगाई गई पाबंदियां काफी ज्यादा सख्त थीं।

इसके बाद 19 मार्च को पीएम आर्डेन ने देश में विदेशियों की एंट्री बैन कर दी थी। तब न्यूजीलैंड में COVID-19 के 28 मामले थे. देश में 23 मार्च को लॉकडाउन का ऐलान हुआ था और उस समय 102 केस थे। न्यूजीलैंड में कुल 1500 से थोड़े अधिक लोग कोविड-19 की चपेट में आए और 22 लोगों की मौ’त हुई।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न ने कहा है कि देश में कोरोना वायरस को लेकर लागू पाबंदियां मंगलवार से हटा ली जाएंगी, हालांकि सीमा-बंदी अभी भी जारी रहेगी। सोमवार आधी रात से देश में नेशनल अलर्ट लेवल 1 लागू होगा। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक और निजी आयोजन बिना किसी प्रतिबंध के हो सकते हैं। रिटेल और हॉस्पैटिलिटी सेक्टर सामान्य रूप से काम कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि सभी सार्वजनिक परिवहन फिर से शुरू हो सकते हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE