सऊदी क्राउन प्रिंस ने मोहम्मद बिन जायद से मांगी मदद, इमरान खान का भी मिला साथ

सोमवार को सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस, उप प्रधान मंत्री और रक्षा मंत्री मोहम्मद बिन सलमान बिन सलमान बिन अब्दुलअज़ीज़ अल सऊद ने अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान को फोन कर सभी क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों और सहयोग बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की।

इस दौरान सऊदी क्राउन प्रिंस ‘ग्रीन मिडिल ईस्ट’ की पहल पर यूएई का साथ मांगा। जिसका उद्देश्य क्षेत्र के देशों के साथ साझेदारी में 50 बिलियन पेड़ लगाना है। यह दुनिया का सबसे बड़ा वनीकरण कार्यक्रम होगा जो पर्यावरण के संरक्षण और अक्षय स्रोतों को बनाए रखने में योगदान देगा।

शेख मोहम्मद ने प्रिंस मोहम्मद की पहल और क्षेत्र के पर्यावरण के सामने आने वाली आर्थिक और सामाजिक चुनौतियों पर काबू पाने और जीवन की गुणवत्ता में सुधार पर इसके स्थायी प्रभाव की प्रशंसा की।

दूसरी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी सऊदी अरब की ग्रीन इनिशिएटिव की प्रशंसा की है। सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान को लिखे एक पत्र में, खान ने कहा कि वह ‘सऊदी ग्रीन इनिशिएटिव’ शुरू करने की योजना के बारे में जानकर बहुत खुश हुए। ”

उन्होने कहा, सऊदी अरब की यह पहल पाकिस्तान सरकार की “स्वच्छ और हरित पाकिस्तान” पहल के साथ निकटता से जुड़ी हुई है, जो देश में जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को दूर करने के लिए प्रकृति-आधारित समाधानों में निवेश कर रही।

पीएम ने अपने पत्र में कहा, “2014 से 2018 तक एक अरब पेड़ सफलतापूर्वक लगाने के बाद, हमारी Tree10 बिलियन ट्री सुनामी’ पहल पूरे देश में अच्छी तरह से चल रही है। हम अपने संरक्षित क्षेत्रों का विस्तार भी कर रहे हैं। पीएम ने अपने पत्र में कहा, यह दर्शाता है कि “वृक्षारोपण न केवल प्रकृति की रक्षा करता है और जलवायु परिवर्तन से लड़ने के लिए पारिस्थितिकी तंत्र को पुनर्स्थापित करता है, बल्कि इसका विस्तार भी करता है।”