हज को लेकर सऊदी हुकूमत ने कहा – अभी नहीं हुआ कोई आधिकारिक फैसला

सऊदी अरब के हज और उमराह मंत्रालय ने कहा कि 2021 के लिए हज की रस्म के प्रदर्शन पर कोई आधिकारिक निर्देश जारी नहीं किए गए हैं। मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्ता, हेशम अब्दुलमोनम सईद ने कहा कि सऊदी अरब दुनिया भर के मुसलमानों को हज की रस्म अदा करने में सक्षम बनाने का इच्छुक है, लेकिन अधिकारियों ने हाजियों की सुरक्षा को प्राथमिकता दी है।

इससे पहले, हज और उमराह के उप मंत्री, डॉ अब्दुल फतह बिन सुलेमान मशात ने कहा कि किंगडम राज्य के अंदर और बाहर दोनों ओर से उमराह जायरीन का स्वागत करता है, बशर्ते कि वे Eatmarna and Tawakalna एप्प का प्रयोग कर स्वास्थ्य आवश्यकताओं का पालन करें।

इससे पहले खबर आई थी कि को’रोना महा’मारी के बीच सऊदी अरब लगातार दूसरे साल भी विदेशी हजयात्रियों को बैन करने पर विचार कर रहा है। यानि दूसरे साल भी सऊदी अरब के बाहर के लोगों को हज के लिए अनुमति नहीं दी जाएगी।

महा’मारी से पहले लगभग 2.5 मिलियन जायरीन सप्ताह भर की हज यात्रा के लिए मक्का और मदीना में इस्लाम के सबसे पवित्र स्थलों पर जाते थे और साल भर उमरा के लिए पहुँचते थे। कुल मिलाकर सऊदी सरकार लगभग 12 बिलियन डॉलर अर्जित करतीं थी।

क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान द्वारा शुरू की गई आर्थिक सुधार योजनाओं के हिस्से के रूप में सऊदी उमरा और हज यात्रियों की संख्या को क्रमशः 15 मिलियन और 5 मिलियन तक बढ़ाने की उम्मीद कर रहा है, और 2030 तक यह संख्या 30 मिलियन तक दोगुना करने का लक्ष्य रखा गया। इसका उद्देश्य 2030 तक अकेले हज से 50 बिलियन रियाल (13.32 बिलियन डॉलर) राजस्व अर्जित करना है।