यूएई एक्टिविस्ट का नक़वी को जवाब – मध्य पूर्व भी हिंदुओं के साथ वहीं व्यवहार शुरू कर दें जो भारत मुस्लिमों के साथ कर रहा

भारतीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की मध्य पूर्व के देशों में तीखी आलोचना हो रही है। जिसमे उन्होने कहा कि भारत मुसलमानों और अल्पसंख्यकों के लिए एक “स्वर्ग” है।

नक़वी के इस बयान पर यूएई एक्टिविस्ट, नूरा अलघुहैर ने कहा “भारत के केंद्रीय मंत्री ने जो कहा है, उससे प्रेरणा लेते हुए, मुझे लगता है कि हमें मध्य पूर्व में अब भारत से अपने” अल्पसंख्यकों “(हिंदुओं) के साथ वहीं व्यवहार शुरू करना चाहिए, जिस तरह से भारत में मुसलमानों के साथ किया जा रहा है। हमें उनके लिए इसे ‘स्वर्ग’ बनाना चाहिए। माना?” ।

बता दें कि केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इस्लामी देशों के संगठन ओआईसी के भारत में ”इस्लामोफोबिया” के बयान पर कहा कि मुस्लिमों के लिए भारत स्वर्ग है। उन्होने कहा, उनके अधिकार इस देश में सुरक्षित हैं।

नकवी ने कहा कि मुस्लिमों के लिए भारत स्वर्ग जैसा है और उनके अधिकार यहां पूरी तरह सुरक्षित हैं। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों के साथ साथ देश के सभी नागरिकों के संवैधानिक, सामाजिक, धार्मिक अधिकार भारत की गारंटी हैं। किसी भी स्थिति में ‘अनेकता में एकता’ की ताकत कमजोर नहीं हो सकती।

मंत्री ने कहा कि कुछ लोग दुष्प्रचार कर रहे हैं और हमें मिल कर ऐसी ताकतों को हराना है। फेक न्यूज़ और भड़काऊ अफवाहों से सावधान रहने की जरूरत है। इस तरह की बातों में आकर कोरोना के खिलाफ जंग को कमजोर नहीं होने देना है। पीएम मोदी के नेतृत्व में देश एकजुट होकर कोरोना के खिलाफ लड़ रहा है। उन्होंने कहा कि 24 अप्रैल से शुरू हो रहे रमजान के पवित्र महीने में घरों से ही इबादत की जाए।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE