पुतिन-बिडेन की मुलाक़ात पर टिकी दुनिया की नजर, लेकिन क्रेमलिन ने दिया झटका

क्रेमलिन ने सोमवार को कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन शिखर बैठक के लिए एक तिथि और स्थान पर सहमत नहीं हुए। इतना ही नहीं बैठक को अंतिम रूप देने से पहले अभी भी कई कारकों पर ध्यान देने की आवश्यकता है।

आरआईए समाचार एजेंसी ने बताया कि क्रेमलिन के एक सहयोगी ने रविवार को कहा कि बैठक जून में हो सकती है। रूस के Kommersant अखबार, अज्ञात स्रोतों का हवाला देते हुए कहा कि बिडेन ने 15-16 जून को यूरोपीय देश में पुतिन से मिलने की पेशकश की।

हालांकि विदेश नीति के सलाहकार यूरी उषाकोव ने कहा कि बैठक पर कोई ठोस निर्णय अभी तक नहीं लिया गया है। 1998 से 2008 तक संयुक्त राज्य अमेरिका में रूसी राजदूत उषाकोव ने कहा, “हम कई कारकों के आधार पर निर्णय लेंगे।”

रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने रविवार को कहा कि शिखर सम्मेलन के लिए बिडेन का प्रस्ताव “सकारात्मक” रूप से प्राप्त हुआ है और अब विचाराधीन है।

पुतिन और तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच जुलाई 2018 में हेलसिंकी में एक शिखर सम्मेलन आयोजित हुआ था। इस महीने की शुरुआत में, बिडेन ने पुतिन को यूक्रेन की सीमा पर तनाव कम करने के लिए शिखर सम्मेलन का प्रस्ताव दिया।