माली में सेना का विद्रोह – प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को बनाया गया बंधक

पश्चिम अफ्रीकी देश माली में देश सेना ने तख्तापलट कर राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री और अन्य शीर्ष अधिकारियों को बंधक बना लिया है। राष्ट्रपति इब्राहिम बोबासर कीटा और पीएम बाउबू सीसे को राजधानी बमाको के पास एक सैन्य शिविर में रखा गया है।

घटना के बाद ही बुधवार सुबह माली के राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबकर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। देश के नाम अपने संबोधन में 75 साल के इब्राहिम बाउबकर ने कहा कि सरकार और नेशनल असेंबली को भंग कर दिया गया है। विद्रोही सैनिकों ने माली के राष्ट्रपति का निजी निवास घेर लिया और हवा में गोलियां चलाई।

इस बीच प्रधानमंत्री ने सैनिकों से हथियार रखने और देश का दिख सर्वोपरि रखने की अपील की, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने उनकी नहीं सुनी। प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसी कोई समस्या नहीं है, जिसका संवाद से हल नहीं हो सकता है. इससे पहले दिन में सशस्त्र सैनिक सरकारी दफ्तरों में घुस गए और वहां कब्जा करने लगे।

पश्चिम अफ्रीकी राज्यों के आर्थिक समुदाय (इकोवास), एक क्षेत्रीय ब्लॉक जो कि राष्ट्रपति केटा और विपक्षी समूहों के बीच बातचीत कर रहा है, ने सभी अधिकारियों की तत्काल रिहाई के लिए कहा है।

एक बयान में, यह भी कहा गया कि इसके 15 सदस्य राज्यों ने माली के साथ अपनी सीमाओं को बंद करने, देश के सभी वित्तीय प्रवाह को निलंबित करने और सभी इकोवास के निर्णय लेने वाले निकायों से माली को बाहर करने पर सहमति व्यक्त की।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE