No menu items!
28.1 C
New Delhi
Thursday, August 5, 2021

Aramco में हिस्सेदारी लेने के लिए सबसे आगे चीनी निवेशक, बातचीत हुई शुरू

Must read

- Advertisement -

कई चीनी निवेशक सऊदी अरामको में हिस्सेदारी खरीदने के लिए बातचीत कर रहे हैं। बुधवार को रायटर ने ये जानकारी दी। दरअसल, सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी अपने कारोबार का एक हिस्सा अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को बेचने में जुटी है।

क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने मंगलवार को टेलीविज़न टिप्पणी में कहा, सऊदी अरब एक प्रमुख वैश्विक ऊर्जा कंपनी अरामको का 1%  हिस्सा बेचने के लिए जुटा है और अगले साल दो साल के भीतर अंतरराष्ट्रीय निवेशकों सहित आगे के शेयरों को बेच सकता है।

1% की हिस्सेदारी अरामको के मौजूदा बाजार पूंजीकरण के आधार पर लगभग 19 बिलियन डॉलर होगी। सॉवरेन वेल्थ फंड चाइना इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन (CIC) उन लोगों में से है। जो निवेश कर सकते है। अरामको सीआईसी के साथ-साथ चीनी राष्ट्रीय तेल कंपनियों के साथ भी बात कर रहा है।

अरामको कुछ वर्षों से चीनी निवेशकों के संपर्क में था और सीआईसी सबसे अधिक संभावना वाला निवेशक है, जो राज्य समर्थित निजी इक्विटी फंड के साथ दूसरा स्रोत है। एक स्रोत के हवाले से रायटर ने कहा, “राज्य का चीन के साथ घनिष्ठ संबंध है।” जो अरामको के करीब है। “प्रमुख शेयरधारक तय करेगा कि उनके शेयरों का क्या करना है।”

दुनिया के सबसे बड़े तेल निर्यातक सऊदी अरब ने मार्च में लगातार सातवें महीने चीन के सबसे बड़े कच्चे तेल आपूर्तिकर्ता के रूप में अपना स्थान बरकरार रखा। Aramco, दुनिया की सबसे बड़ी तेल कंपनी है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article