मैक्रोन ने जताई शंका – फ्रांसीसी चुनावों में तुर्की कर सकता है हस्तक्षेप

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन ने कहा कि तुर्की आगामी फ्रांसीसी चुनाव में हस्तक्षेप करने का प्रयास कर सकता है। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में ये जानकारी दी गई।

मैक्रोन ने मंगलवार को फ्रांस 5 टेलीविजन के साथ एक साक्षात्कार में कहा, ” ख’तरे से पर्दा नहीं उठा है, इसलिए मुझे लगता है कि हमें बहुत स्पष्ट होना चाहिए। लेकिन फ्रांसीसी नेता ने यह निर्दिष्ट नहीं किया कि क्या उनका मतलब 2022 में राष्ट्रपति चुनाव है या जून में क्षेत्रीय चुनाव और विभागीय चुनाव, या दोनों।

उन्होंने कहा कि तुर्की की और से स्कूलों, मस्जिदों और अन्य संगठनों के माध्यम से प्रवासियों पर पड़ने वाले प्रभाव का संदर्भ है। फ्रांसीसी नेता ने यह भी कहा कि तुर्की के साथ बातचीत आवश्यक है क्योंकि यह नाटो का सदस्य है। उन्होंने कहा कि नाटो सदस्य तुर्की मध्य पूर्व से यूरोप में अवैध प्रवास के खिलाफ लड़ाई में एक प्रमुख व्यापारिक भागीदार और प्रमुख सहयोगी है।

मैक्रॉन ने कहा, “यदि आप रात भर कहते हैं: हम आपके साथ काम नहीं कर सकते हैं, तो कोई और चर्चा नहीं होती है, वे दरवाजे खोलते हैं और आपके पास 3 मिलियन सीरियाई शरणार्थी यूरोप में आते हैं।” “हमें तुर्की के साथ काम करना चाहिए।”

2017 के राष्ट्रपति चुनावों के दौरान भी मैक्रॉन ने रूस पर अपने पार्टी सर्वरों को हैक करने और विघटन फैलाने का आरोप लगाया था।