हिन्दू कर्मचारियों को लेकर लूलू मॉल ने दी अपनी सफाई, कह दी यह बड़ी बात

0
247

भारत के उत्तरप्रदेश में स्थित लूलू मॉल उद्घाटन के दिन से ही चर्चा में बना हुआ है, उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस मॉल का उद्घाटन करने के बाद जनता के लिए खोल दिया था. जिसे बाद से लगातार यह मॉल सोशल मीडिया पर चर्चा में बना हुआ है.

वहीँ मॉल में नमाज़ का विडियो आने के बाद से यह मॉल कट्टरपंथीयों के निशाने पर है, मॉल को लेकर लगातार ट्विटर और फेसबुक पर निशाना साधा जा रहा है, नमाज़ का विडियो वायरल होने के बाद हिन्दू संगठनों ने ऐलान किया की वहां हनुमान चालीसा पढ़ेंगे तथा सोशल मीडिया पर कर्मचारियों के धर्म को लेकर भी अफवाहे फैलाई जा रही है.

विज्ञापन

इस सारे मामले को लेकर मॉल ने आज सफाई पेश की है. लुलु इंडिया शॉपिंग मॉल प्राइवेट लिमिटेड, लखनऊ के क्षेत्रीय निदेशक जयकुमार गंगाधर ने उन दावों को ख़ारिज़ किया है कि मॉल के ज़्यादातर कर्मचारी मुसलमान हैं. उन्होंने इस बात पर चिंता जताई है कि निहित स्वार्थों वाले कुछ लोग उनके मॉल को निशाना बना रहे हैं.

गंगाधर ने दावा किया है कि उनके यहां काम करने वालों में से 80 फ़ीसदी से अधिक लोग हिंदू हैं और बाक़ी लोग अन्य सभी धर्मों के हैं. उन्होंने यह भी कहा कि उनके कर्मचारियों में उत्तर प्रदेश सहित देश के अन्य राज्यों के लोग भी शामिल हैं.

मॉल ने यह भी दावा किया है कि उनके यहां काम करने वालों को जाति, धर्म या मत के आधार पर नौकरी नहीं दी जाती. मॉल के अनुसार, उनके यहां कार्यकुशलता और योग्यता के आधार पर लोगों को रखा जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here