प्रधान मंत्री साद हरीरी ने पद छोड़ा, अब क्या होगा लेबनान का

लेबनान के मनोनीत प्रधान मंत्री साद हरीरी ने महीनों तक सरकार बनाने में विफल रहने के बाद आज अपना पद छोड़ दिया।

राजधानी बेरूत के प्रेसिडेंशियल पैलेस में राष्ट्रपति मिशेल औन से मुलाकात के बाद एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा: “राष्ट्रपति औन की स्थिति नहीं बदली है, और उनके द्वारा अनुरोध किए गए संशोधन आवश्यक हैं … उन्होंने मुझे बताया कि आम सहमति तक पहुंचना मुश्किल है, इसलिए मैंने पद छोड़ दिया… अल्लाह देश की मदद करे।”

बुधवार को हरीरी ने काहिरा से लौटने के कुछ घंटों बाद 24 मंत्रियों की एक नई कैबिनेट लाइन पेश की, जहां उन्होंने मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल-फतह अल-सीसी के साथ बातचीत की। दोनों नेताओं ने एक-दूसरे पर नई सरकार बनाने में रोड़े अटकाने का आरोप लगाया है।

बेरूत के बंदरगाह पर हुए बड़े विस्फो’ट के छह दिन बाद 10 अगस्त, 2020 को हसन दीब के मंत्रिमंडल के इस्तीफे के बाद से लेबनान एक नए प्रशासन के साथ आने में असमर्थ रहा है।

अरब देश एक गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रहा है, स्थानीय मुद्रा अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अपना लगभग सभी मूल्य खो रही है। देश भर की सड़कों पर बड़े पैमाने पर विरो’ध और रैलियां देखी जा रही हैं।