फिल्म अभिनेता तथा राजनेता कृष्णा कुमार बेटियों संग पहुंचे शेख ज़ायेद मस्जिद, बोले ‘यहाँ आना मेरे लिए सौभाग्य’

0
903

कर्नाटक के एक स्कूल से शुरू हुआ हिजाब विवाद देखते ही देखते सुप्रीम कोर्ट पहुँच गया, ऐसा उस समय किसी ने सोचा नहीं था. हिजाब को लेकर समाज दो धडों में बंट गया है एक वो पक्ष जो हिजाब पहनने का समर्थन करतें हैं और दूसरा पक्ष जो महिलाओं के हिजाब के खिलाफ है. वहीँ सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस याचिका पर होली के बाद सुनवाई की बात सामने आ रही है. ऐसे में यह जानना बेहद ज़रुरी रहेगा की क्या क्या सुप्रीम कोर्ट हाई कोर्ट के निर्णय को ही बरकरार रखती है या फैसला पलटती है.

इसी बीच सोशल मीडिया पर एक कर्नाटक के भाजपा नेता कृष्णा कुमार की तस्वीर वायरल हो उठी है जिसमे वो अबू धाबी के शेख ज़ायेद मस्जिद का दौरा करते हुए नज़र आ रहें हैं. हालाँकि मस्जिद का दौरा करने कोई ख़ास बात नहीं है क्योंकी पिछले दिनों लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने भी इसी मस्जिद का दौरा किया था लेकिन यह फोटो तब ख़ास बन जाती है जब भाजपा नेता के साथ उनकी दो बेटियां मौजूद हो और दोनों ही बेटियों ने हिजाब पहन रखा हो. आपको बताते चलें की केरला के पड़ोसी राज्य कर्नाटक से ही हिजाब विवाद की शुरुआत हुई.

विज्ञापन

शेख ज़ायेद मस्जिद के दौरे की फोटो को शेयर करते हुए कृष्णा कुमार लिखतें हैं की “नमस्कार भाइयों…
मैं दूसरे दिन अबू धाबी की यात्रा के दौरान, मैंने और मेरे बच्चों ने अपने दोस्तों को शेख जायद ग्रैंड मस्जिद देखने की हमारी इच्छा के बारे में बताया और उन्होंने इसके लिए मार्ग प्रशस्त किया। मैं इस सुंदर, भव्य और विशाल मस्जिद के दर्शन करने में सक्षम होना एक बड़ा सौभाग्य मानता हूं …
सभी को शुभकामनाएं…जय हिंद”

यह पोस्ट कृष्णा कुमार ने 12 मार्च को की तथा इसके बाद 14 मार्च को अपनी फेसबुक पोस्ट के ज़रिये वो सभी लोगो से फिल्म कश्मीर फाइल्स देखने की अपील करते हैं.

2022 Happiness Index : सऊदी अरब सबसे खुशहाल देशो में 25वे स्थान पर पहुंचा

सऊदी प्रेस एजेंसी (एसपीए) ने शुक्रवार को बताया कि सऊदी अरब एनुअल वर्ल्ड हैप्पीनेस रिपोर्ट 2022 में वर्ल्ड लेवल पर 25वें स्थान पर पहुंच गया है। 2021 में किंगडम को वर्ल्ड लेवल पर 26 वां स्थान दिया गया था।

यूनाइटेड नेशंस सस्टेनेबल डेवलपमेंट सॉल्यूशंस नेटवर्क द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार, किंगडम ने हैप्पीनेस इंडेक्स में वर्ल्ड लेवल पर अपनी प्रोग्रेसजारी रखी है ये एक ऐसा इंडेक्स है जो हर साल देशो की ख़ुशी का आकलन लगाता है की किस देश के लोग कितना खुश है ।

Saudi Arabia ranks 25th among the happiest countries

2017 के बाद से सबसे खुशहाल आबादी की रैंकिंग में सऊदी लगातार प्रगति कर रहा है जिसके चलते सऊदी इस साल 25वें स्थान पर पहुंच गया है ।

किंगडम की खुशाली इन मापदंडो के अनुसार मापी गयी है ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट, सोशल सपोर्ट, हेल्दी लाइफ एक्सपेक्टेंसी और लाइफ के डिसीजन लेने की कैपेबिलिटीज और भ्रष्टा’चार्य से लड़ने के अनुसार है।

किंगडम ने इकनोमिक प्रोग्राम्स को अपनाया है जिसके चलते पैंडेमिक में काबू मिलने में आसानी हुई है।

Saudi : उमराह और हज ज़ायरीन अगर निर्धारित अवधि से ज़्यादा रुके तो लगेगा 25000 रियाल का जुर्मान

ऑडी में हज और उमराह के ज़ायरीनों के लिए जवाज़ात ने एक नया बयान जारी किया गया है बयान में ये कहा गया है की अवधि से अधिक समय के लिए रहने वाले ज़ायरीनों के लिए हज और उमराह सर्विस प्रोवाइडर पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा।

इसके लिए प्रति तीर्थयात्री 25,000 रियाल का जुर्माना लगाया जा सकता है जो की बड़ी रकम है। सऊदी में हज और उमराह के लिए आये हुए ज़ायरीनों को सिर्फ निर्धारिय समय तक ही रहने की इजाज़त है।

UAE authorities said that the first fast will be on April 2, these will be the rules for Iftar tents

अगर कोई तीर्थयात्री इससे अधिक समय के लिए रहता है तो कंपनी पर जुर्माना लगाया जाएगा। इसके साथ ही कैप्टन अब्दुल रहमान अल-Qathami ने बताया है कि इस तरह की कंडीशन में सिर्फ हज और उमराह कंपनी पर ही जुर्माना लगाया जाएगा।

जुर्माना सिर्फ कम्पनी की जिम्मेदारी है इसका रीज़न ये है की ज़ायरीन इसके लिए ज़िम्मेदार नहो होंगे इसीलिए कंपनी यह सुनिश्चित करे कि यात्री वीजा एक्सपायर होने के पहले अपने देश लौट जाए। अब तक इसके चलते करीब 208 कम्पनी पर जुर्माना लगाया जा चुका है।

Saudi : उमराह और हज ज़ायरीन अगर निर्धारित अवधि से ज़्यादा रुके तो लगेगा 25000 रियाल का जुर्माना

ऑडी में हज और उमराह के ज़ायरीनों के लिए जवाज़ात ने एक नया बयान जारी किया गया है बयान में ये कहा गया है की अवधि से अधिक समय के लिए रहने वाले ज़ायरीनों के लिए हज और उमराह सर्विस प्रोवाइडर पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा।

इसके लिए प्रति तीर्थयात्री 25,000 रियाल का जुर्माना लगाया जा सकता है जो की बड़ी रकम है। सऊदी में हज और उमराह के लिए आये हुए ज़ायरीनों को सिर्फ निर्धारिय समय तक ही रहने की इजाज़त है।

Saudi: If Umrah and Hajj pilgrims stay for more than the prescribed period, then a fine of 25000 riyals will be imposed.

अगर कोई तीर्थयात्री इससे अधिक समय के लिए रहता है तो कंपनी पर जुर्माना लगाया जाएगा। इसके साथ ही कैप्टन अब्दुल रहमान अल-Qathami ने बताया है कि इस तरह की कंडीशन में सिर्फ हज और उमराह कंपनी पर ही जुर्माना लगाया जाएगा।

जुर्माना सिर्फ कम्पनी की जिम्मेदारी है इसका रीज़न ये है की ज़ायरीन इसके लिए ज़िम्मेदार नहो होंगे इसीलिए कंपनी यह सुनिश्चित करे कि यात्री वीजा एक्सपायर होने के पहले अपने देश लौट जाए। अब तक इसके चलते करीब 208 कम्पनी पर जुर्माना लगाया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here