जानिए शाहिद अफरीदी क्यों गए मंदिर?

कोरोना संकट से पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान भी जूझ रहा है। मुल्क में करीब 35 हजार लोग इस जानलेवा महामारी की चपेट में आ गए हैं। ऐसे में पाकिस्तान के पूर्व धुरंधर ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी लॉकडाउन के बीच गरीबों की मदद के लिए जुटे हुए है।

शाहिद अफरीदी ने अपनी संस्था ‘होप नॉट आउट’ के जरिए वहां जरूरतमंदों की मदद के लिए अपना काम जारी रखा हुआ है। शाहिद अफरीदी ने पाकिस्तान स्थित एक हिंदू मंदिर में जरूरत का सामान वितरित किया है और इसकी तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर साझा की हैं।

वे 4 दिन पहले कराची के मशहूर श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर भी पहुंचे। जहां अफरीदी ने वहां मौजूद हिंदुओं में राशन सामग्री बांटी। अफरीदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर भी मंदिर में राहत सामग्री बांटने की तस्वीर शेयर की हैं। उन्होंने लिखा है, इसमें (संकट में) हम एकसाथ हैं और एकसाथ ही रहेंगे। एकता ही हमारी शक्ति है। अफरीदी के इस नेक काम के लिए मंदिर में मौजूद हिंदुओं ने उन्हें जमकर आशीर्वाद भी दिया है।

अफरीदी मंदिर में अकेले नहीं पहुंचे थे बल्कि इस दौरान उनके साथ पाकिस्तान के मशहूर स्कवैश खिलाड़ी जहांगीर खान भी थे। जहांगीर खान ने भी राहत सामग्री बांटने में अफरीदी की मदद की। जहांगीर अफरीदी के फाउंडेशन में अध्यक्ष भी हैं। हाल ही में शाहिद अफरीदी ने एक शानदार मुहिम भी शुरू की थी जिसकी काफी तारीफ भी हुई थी। उन्होंने एक अभियान शुरू किया था जिसमें तमाम बड़े ब्रांड अफरीदी की सेवाएं मुफ्त में ले सकते हैं लेकिन बदले में उनको जरूरतमंदों के लिए राशन मुहैया कराना होगा।

अफरीदी ने कहा था कि, ‘उम्मीद करता हूं कि आप सब ठीक होंगे। मैंने आज तक जितने भी ब्रांड्स के लिए अलग-अलग विज्ञापनों में काम किया है उनके लिए ये खास संदेश है। वो मेरे फायदे के लिए था और उससे कंपनियों को भी फायदा हुआ। अब मैं उन सभी ब्रांड्स को अपनी सेवाएं देने का प्रस्ताव रखता हूं अपने देश के लिए। मुझे आपसे कुछ नहीं चाहिए लेकिन जैसा कि आप जानते हैं कि पाकिस्तान बड़ा देश है और बहुत सी जगहों पर लोग अपने घरों में राशन पहुंचने का इंतजार कर रहे हैं। मुझे पैसा नहीं चाहिए, आप बस उनके लिए राशन का इंतजाम कर दीजिए।’


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE