कोरोना के चलते जॉर्डन ने रमजान में मस्जिदों में इबादतों पर लगाई पाबंदी

जॉर्डन के धार्मिक मामलों के मंत्री ने कहा कि जॉर्डन रमजान के पवित्र महीने के दौरान मस्जिदों में सार्वजनिक नमाज अदा करने की अनुमति नहीं देगा, जो कि अगले हफ्ते से शुरू हो रहा है।

मोहम्मद खलायला ने कहा कि शाम की नमाज़ को तरावीह के नाम से जाना जाता है, जो महीने भर के रोजो के धार्मिक पालन का मुख्य हिस्सा है, पर प्रतिबंध लगाया जाएगा।

अन्य मुस्लिम देशों की तरह, अधिकारियों ने 391 पुष्ट मामलों और सात मौतों के साथ एक देश में वायरस के प्रसार को रोकने के लिए मस्जिदों और सार्वजनिक स्थलों को एक तंग तालाबंदी और प्रतिबंधों के हिस्से के रूप में बंद कर दिया है।

इससे पहले सऊदी अरब भी मस्जिदों में तरावीह की नमाज पर प्रतिबंध लगा चुका है। सऊदी अरब के इस्लामिक मामलों के मंत्रालय ने कहा, रमज़ान के दौरान तरावीह की नमाज़ केवल घर पर ही की जाएगी क्योंकि मस्जिदों में नमाज़ के निलंबन को कोरोनावायरस के अंत तक नहीं उठाया जाएगा।

अल रियाद अखबार ने सऊदी अरब के इस्लामिक मामलों के मंत्री डॉ अब्दुल लतीफ अल शेख के हवाले से कहा, “मस्जिदों में पांच फर्ज नमाजों के का निलंबन तरावीह की नमाज़ के निलंबन से अधिक महत्वपूर्ण है। हम अल्लाह से मस्जिदों, या घरों में आयोजित होने वाली तरावीह की नमाज़ को स्वीकार करने के लिए कहते हैं, जो लोगों के स्वास्थ्य के लिए बेहतर है। हम अल्लाह से प्रार्थना करते हैं कि हम सभी से प्रार्थनाओं को स्वीकार करें और मानवता को इस महामारी से बचाएं।”


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE