इजरायल ने रमजान में अल-अक्सा मस्जिद इमाम को ध’मका’या

इजरायल की खुफिया सेवाओं ने पूर्वी यरुशलम में घर पर छापा मारने के बाद अल-अक्सा मस्जिद के इमाम, शेख इकरीमा साबरी को धम’की दी। इस बारे में  शेख साबरी ने कहा कि वह अल-अक्सा मस्जिद के दरवाजे फिर से खोल देंगे, अगर कब्जे वाली सेनाओं ने बसने वालों को मुस्लिम स्थल पर किसी बात की अनुमति दी।

शेख साबरी ने अनादोलु एजेंसी को बताया: “इजरायली खुफिया बल मेरे घर आए और मुझे धम’की देते हुए कहा कि वे अल-अक्सा मस्जिद में किसी भी तनाव के लिए जिम्मेदार ठहराएंगे।”

उन्होने कहा, “मैंने उन्हें बताया कि अल-अक्सा मस्जिद में इबादत करने वालों के स्वागत को निलंबित करने का मतलब किसी भी तरह से यह नहीं है कि यह बसने वालों को इसमें प्रवेश करने की अनुमति है। इसलिए, यदि कब्जे वाली पुलिस मुगराबादी गेट को एकतरफा तौर पर बसाने वालों के लिए खोलने का फैसला करती है, तो हम मस्जिद के बाकी दरवाजे इबादत करने वालों के लिए खोल देंगे। “

शेख साबरी ने जोर देकर कहा कि “इजरायल को कोरोनावायरस महामारी का लाभ उठाने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए और अल-अक्सा मस्जिद पर नए प्रतिबंध लगाने का प्रयास नहीं करना चाहिए।”येरूशलम में इस्लामिक एंडॉवमेंट्स डिपार्टमेंट ने पिछले महीने घोषणा की कि उसने कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए एक निवारक उपाय के रूप में अल-अक्सा मस्जिद में नमाज पढ़ने वालों के स्वागत को निलंबित कर दिया था।

दो दिन पहले, बसने वालों ने इजरायल के अधिकारियों से कहा कि वे अल-अक्सा मस्जिद को एकतरफा खोल दें। बता दे कि कोरोना के चलते इतिहास में पहली बार अल अक्सा को नमाजियों के लिए बंद किया गया।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE