इजरायल का जुल्म – फिलिस्तीनी में बंद कर डाले कोरोना टेस्ट क्लिनिक

कोरोना महामारी को लेकर दुनिया एक जुट है। लेकिन इजरायल ऐसे वक्त में भी फिलिस्तीनियों पर जुल्म कर रहा है। वह एक के बाद एक फिलिस्तीनी में कोरोना टेस्ट क्लिनिक बंद कर रहा है।

इजरायली सेना ने फिलिस्तीन में घातक कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के नाम पर फिलिस्तीनी प्रयासों को रोकने के की कार्रवाई की। हाल ही में मेकशिफ्ट क्लिनिक को सिल्वान के फिलिस्तीनी पड़ोस में एक स्थानीय मस्जिद में स्थापित किया गया था, जिसने सेना के कई छापों का सामना किया है।

क्लिनिक के निदेशक ने इज़राइली दैनिक समाचार पत्र हारेत्ज़ को बताया, “सिलवान में कोरोनावायरस परीक्षणों की कमी है, जहाँ डॉक्टरों का कहना है कि 40 पुष्ट मामले हैं और जहाँ भीड़भाड़ की स्थिति में वायरस का तेजी से प्रसार हो सकता है”।

इजरायल के अखबार के अनुसार, इजरायल सरकार की कार्रवाई के पीछे मुख्य कारण “यरूशलेम में किसी भी फिलिस्तीनी प्राधिकरण गतिविधि को रोकना है।”

घंटे भर बाद, फिलिस्तीन शरणार्थियों (UNRWA) के लिए संयुक्त राष्ट्र के राहत और निर्माण एजेंसी के प्रवक्ता सामी मशाशा ने कहा कि इजरायल ने अपने संगठन को पूर्वी यरुशलम में कब्जे वाले फिलिस्तीनियों के लिए कोरोनोवायरस से संबंधित स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने से रोक दिया है।

उन्होने  फिलिस्तीनी समाचार एजेंसी डब्ल्यूएएफए को बताया कि इजरायल के उपाय “इजरायल की राजधानी के रूप में इजरायल की दो साल पुरानी प्रतिबंधों की निरंतरता है, जो कब्जे वाले शहर में यूएनआरडब्ल्यूए गतिविधियों पर लगाई गई है, जो कि इजरायल की राजधानी के रूप में यरूशलेम को अमेरिका की मान्यता और तेल अवीव से दूतावास के कदम के रूप में है।  “


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE