Home अन्तर्राष्ट्रीय ISI चाहती थी मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में देखना, ताकि भारत...

ISI चाहती थी मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में देखना, ताकि भारत हो सके बर्बाद: दुर्रानी

430
SHARE

पाकिस्तान आर्मी हेडक्वार्टर ने आईएसआई के पूर्व चीफ असद दुर्रानी को उनकी लिखी किताब को लेकर तलब किया है.  दुर्रानी ने पूर्व रॉ प्रमुख ए एस दुलत के साथ मिलकर ये किताब लिखी है.

किताब में दावा किया गया कि आईएसआई नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से ‘खुश’ था. दुर्रानी ने लिखा है कि भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर पाकिस्तान की सीक्रेट सर्विस एजेंसी आईएसआई की पहली पसंद मोदी ही हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ऐसा इसलिए है क्योंकि मोदी कट्टरपंथी हैं, जो कड़े फैसले ले सकते हैं। किताब में दुर्रानी लिखा कि आईएसआई चाहेगी कि मोदी पीएम बने. क्योंकि उनका पीएम बनना पाकिस्तान के अनुकूल होगा, क्योंकि कट्टरपंथी दुष्टिकोण भारत को बर्बाद कर देगा.

किताब में दोनों देशों की सीमाओं के साथ अन्य सभी मुद्दों को सुलझाने के पहलुओं के सुझाया गया है. यह किताब पूर्व आईएसआई और रॉ चीफ के बीच अफगानिस्तान, परवेज मुशर्रफ, नवाज शरीफ, अजीत डोवाल, कुलभूषण जाधव, कश्मीर और नरेंद्र मोदी जैसे तमाम विषयों पर किए गए बातचीत का संग्रह है.

किताब को लेकर पाकिस्तानी आर्मी के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने शुक्रवार को बताया कि दुर्रानी को 28 मई को जनरल हेडक्वार्टर बुलाया गया है जहां उनसे किताब में दिए गए अपने विचारों के लिए पूछताछ की जाएगी.  गफूर ने कहा कि यह मिलिट्री कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन है.

Loading...