ईरान को सता रहा ये बड़ा डर, रूहानी बोले – नहीं संभले तो हो जाएंगे बेकाबू हालात

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को आशंका व्यक्त की कि डे’ल्टा संस्करण के प्रकोप के कारण ईरान को’विड -19 महामारी की पांचवीं लहर की चपेट में आ जाएगा।

रूहानी ने ईरान के एंटी-वायरस टास्कफोर्स की एक बैठक में कहा, “यह आशंका है कि हम पूरे देश में पांचवीं लहर के रास्ते पर हैं।” उन्होने कहा, दक्षिणी प्रांतों में “डेल्टा संस्करण फैल गया है।” ऐसे में जनता को सावधान रहने की चेतावनी दी।

बता दें कि ईरान मध्य पूर्व में कोरो’नावा’यरस के सबसे घा’तक प्रकोप से जूझ रहा है। बता दें कि को’रोना से देश में 84,000 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। हालांकि अधिकारी सभी संक्रमणों के लिए जिम्मेदार नहीं मानते हैं।

वहीं अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण विदेशी फर्मों को धन हस्तांतरण में मुश्किल होने से ईरान 83 मिलियन की आबादी के लिए टीके आयात करने के लिए संघर्ष कर रहा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि ईरान में सिर्फ 4.4 मिलियन से अधिक लोगों को टीके की पहली खुराक मिली है, जबकि केवल 1.7 मिलियन को ही आवश्यक दो खुराक मिली हैं।