ईरान के नए राष्ट्रपति बोले – सऊदी अरब के साथ रिश्तों की बहाली संभव

ईरान के निर्वाचित राष्ट्रपति ने सोमवार को कहा कि सऊदी अरब के साथ संबंध बहाल करने में कोई बाधा नहीं है, लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि वह तेहरान की बैलिस्टिक मिसाइलों या क्षेत्रीय मिलिशिया के समर्थन पर बातचीत करने को तैयार नहीं हैं।

शुक्रवार को चुनाव में भारी बहुमत से जीतने के बाद पहली बार मीडिया से मुखातिब हुए इब्राहिम रायसी ने कहा कि “ईरान की ओर से दूतावासों को फिर से खोलने में कोई बाधा नहीं है… सऊदी अरब के साथ संबंधों में कोई बाधा नहीं है।” वहीं अमेरिका को लेकर उन्होने कहा कि “अमेरिका ईरान के खिलाफ सभी दमनकारी प्रतिबंध हटाने के लिए बाध्य है।”

2015 के पर’माणु समझौते को लेकर उन्होने कहा, “हमारी विदेश नीति पर’माणु समझौते तक सीमित नहीं होगी। हम दुनिया के साथ बातचीत करेंगे। हम ईरानी लोगों के हितों को पर’माणु समझौते से नहीं जोड़ेंगे। “

60 वर्षीय रायसी को शनिवार को इस्लामिक गणराज्य के राष्ट्रपति चुनाव में विजेता घोषित किया गया। वह अगस्त में उदारवादी हसन रूहानी की जगह लेंगे।

ईरानी आंतरिक मंत्रालय ने शनिवार को पुष्टि की कि रायसी ने 61.95% वोट में से 48.8% मत हासिल कर चुनाव जीता। 1979 की क्रांति के बाद से ईरान में पहली बार राष्ट्रपति चुनाव के लिए सबसे कम मतदान हुआ।