ईरान ने बनाई खुद की वैक्सीन, सर्व्वोच नेता खामेनेई ने सबसे पहले लगवाई

ईरान के सर्वोच्च नेता अली खामेनेई ने शुक्रवार को स्वदेशी रूप से विकसित कोरो’नावायरस वैक्सीन, COV-ईरान बरकत का पहला डोज़ लिया है। जिसके बाद देश में आधिकारिक रूप से टीकाकरण का कार्य शुरू हो गया है।

COV-ईरान बरकत, पिछले दिसंबर में खोजा गया पहला ईरानी टीका है। जिसे शिफा फार्मेड द्वारा विकसित किया गया है, जो सरकारी कंपनी है।

इसका उत्पादन मार्च में शुरू हुआ, इसके बाद अप्रैल के अंत में पूरे देश में क्लिनिकल परीक्षण किया गया। वैक्सीन को हाल ही में लाइसेंस मिला है, और इसका बड़े पैमाने पर उत्पादन जारी है।

पहली खुराक मिलने के बाद अपनी टिप्पणी में, खमेनेई ने कहा कि उनकी विदेशी टीका लेने की इच्छा नहीं थी, इसलिए उन्होंने “ईरान निर्मित टीके की प्रतीक्षा की।” उन्होंने कहा कि गैर-ईरानी टीकों का उपयोग करने में “कुछ भी गलत नहीं” था, लेकिन स्थानीय रूप से उत्पादित टीकों का “सम्मान” करने पर जोर दिया।

गुरुवार को ईरान की आयुर्विज्ञान अकादमी के प्रमुख डॉ. अलीरेज़ा मरांडी ने कहा कि खामेनेई “ईरानी वैक्सीन लेने पर जोर देते हैं,” जो उनके अनुसार, “उच्च प्रभावकारिता” है।

अधिकारियों के अनुसार, मई में COV-ईरान बरकत की एक मिलियन खुराक का उत्पादन किया गया, इसके बाद इस महीने 30 लाख और जुलाई तक 10-12 मिलियन का उत्पादन किया गया। हालांकि 80 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को पहले ही विदेशी टीके लग चुके है।