ईरान का बुशहर पर’माणु संयंत्र फिर हुआ चालू, ईरानियों को मिली बड़ी राहत

ईरान क एकमात्र पर’माणु ऊर्जा संयंत्र को वापस ऑनलाइन लाया जा चुका है। दो सप्ताह पहले एक साइबर ह’मले के बाद इसने काम करना बंद कर दिया था।

ईरान के परमाणु ऊर्जा संगठन (AEOI) के उप प्रमुख, महमूद जाफरी ने कहा कि ईरान के दक्षिणी तट पर बुशहर संयंत्र और उसके 1,000 मेगावाट के रिएक्टर को बंद करने वाली “तकनीकी खराबी” को “ठीक कर दिया गया।” उन्होंने कहा, बिजली उत्पादन फिर से शुरू हो गया।

जाफरी ने कहा कि बिजली उत्पादन “रविवार से” फिर से शुरू हो गया। उन्होने ईरानियों से बिजली की खपत को कम करके इस्लामी गणराज्य के अतिभारित ग्रिड की “मदद” करने का आग्रह किया।

बुशहर संयंत्र रूस द्वारा बनाया गया था और आधिकारिक तौर पर सितंबर 2013 में ईरान को सौंप दिया गया था। रूसी और ईरानी फर्मों ने 2016 में दो अतिरिक्त 1,000-मेगावाट रिएक्टरों पर काम शुरू किया, जिसके निर्माण में 10 साल लगने की उम्मीद थी।

बुशहर के ऑफ-ग्रिड जाने से ईरान में बिजली कटौती की एक कड़ी के बाद खराब ब्लैकआउट की चिंता बढ़ गई थी, जिसमें गर्मी, सूखे से पनबिजली सुविधाओं को प्रभावित करने और बिजली की बढ़ती मांग को जिम्मेदार ठहराया गया था।