ईरान ने किया मिलिटरी सैटेलाइट का सफल परीक्षण, अमेरिका-इजराइल की उड़ी नींद

ईरान के ताकतवर सुरक्षा बल रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने महीनों की कोशिशों के बाद बुधवार को एक सैन्य उपग्रह नूर को सफलतापूर्वक कक्षा में प्रक्षेपित कर दिया है। उपग्रह प्रक्षेपण के पहले से ईरान ने इस पर चुप्पी साध रखी थी, लेकिन बाद में उसने इस प्रक्षेपण की पुष्टि की है।

अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर, गार्ड ने कहा कि सैटेलाइट सफलतापूर्वक पृथ्वी की सतह से 425 किलोमीटर (264 मील) ऊपर के ऑर्बिट में पहुंच गया। गार्ड ने इसे तेहरान द्वारा लॉन्च किया गया पहला सैन्य उपग्रह बताया। गार्ड ने बताया कि इस दो स्टेज सैटेलाइट को ईरान के सेंट्रल डेजर्ट से लॉन्च किया गया।

हालांकि, उन्होंने लॉन्चिंग से जुड़ी कोई भी महत्वपूर्ण जानकारी नहीं दी। अर्धसैनिक बल ने कहा कि इसने उपकरण को अंतरिक्ष में भेजने के लिए एक ‘मैसेंजर’ उपग्रह वाहक का इस्तेमाल किया। ईरानी सेटेलाइट के पृथ्वी की कक्षा में स्थापित होने के बाद अमरीकी अधिकारियों ने ईरान के अंतरिक्ष कार्यक्रम पर कई बार आपत्ति जतायी है।

अमरीका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा है कि ईरान ने संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का उल्लंघन किया है और उसे इसके लिए ज़िम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। बता दें कि पिछले महीनों में ईरान ने अंतरिक्ष में सैटेलाइट भेजने की कई बार कोशिशें कीं।

इनमें सबसे ताजा कोशिश फरवरी के मध्य में की गई थी जब जफर1 नाम के संचार उपग्रह को प्रक्षेपित करने की कोशिश नाकाम रही। 2019 में भी दो बार की गई ऐसी कोशिशें नाकाम रहीं। इसके अलावा लॉन्चपैड रॉकेट में धमाका हो गया और इमाम खोमैनी स्पेस सेंटर में आग भी लग गई जिसमें तीन रिसर्चर मारे गए। इसी सेंटर से ईरान का अंतरिक्ष कार्यक्रम चलता है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE