कोरोना संकट के बीच ईरान ने बदली अपनी मुद्रा, रियाल से हुई अब तोमान

कोरोना संकट के बीच ईरान ने बड़ा फैसला लेते हुए अपनी मुद्रा को ही बदल दिया है। जिसके तहत अब ईरान की मुद्रा रियाल न होकर तोमान होगी। अब 10,000 रियाल के बराबर एक तोमान होगा।

सोमवार को ईरान की संसद ने इस संबंध में पेश किए गए विधेयक को मंजूरी दी। ईरानी न्यूज एजेंसी ISNA की रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रीय करेंसी से 4 शून्य हटाने के प्रस्ताव को संसद की ओर से मंजूरी दे दी गई है। इस प्रस्ताव को अब ईरान के शीर्ष आध्यात्मिक नेता अयातुल्लाह खामेनेई की अध्यक्षता वाली समिति के समक्ष पेश किया जाएगा।

ईरान के सरकारी टीवी चैनल ने कहा कि सेंट्रल बैंक ऑफ ईरान को करेंसी में बदलाव के लिए दो साल का वक्त दिया जाएगा। दरअसल ईरान में करेंसी से 4 शून्य हटाने को लेकर 2008 से ही चर्चा चल रही थी। लेकिन 2018 के बाद यह मांग तेजी से बढ़ गई थी, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के साथ 2015 में हुई न्यूक्लियर डील से बाहर निकलने का फैसला लिया था।

इसके बाद अमेरिका ने ईरान पर बड़े पैमाने पर प्रतिबंध लाद दिए थे। इसके चलते ईरानी मुद्रा में 60 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली थी। फॉरेन एक्सचेंज वेबसाइट्स के मुताबिक ईरानी मुद्रा रियाल डॉलर के मुकाबले 156,000 के स्तर पर काम कर रही है। ईरानी मुद्रा में कमजोरी और बढ़ी महंगाई के चलते देश में 2017 के अंत में बड़े पैमाने पर हिंसक प्रदर्शन भी हुए थे।

गौरतलब है कि अमेरिका और ईरान के बीच तनाव चरम पर है। दोनों देशों के बीच लंबे समय से चल रहा तनाव बीते साल उस वक्त तब और बढ़ गया था, जब अमेरिका ने ईरानी मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मिसाइल हम’ला कर ह’त्या कर दी थी। अमेरिका ने कासिम सुलेमानी पर यह हम’ला उस वक्त किया था, जब वह इराक में थे।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE