इमरान खान ने लगाया भारत में मुस्लिमों के उत्पी’ड़न का आरो’प, मिला करारा जवाब

भारत ने पाकिस्तान के पीएम इमरान खान की उस टिप्पणी को खारिज कर दिया, जिसमें COVID-19 महा’मारी की पृष्ठभूमि में मुस’लमानों को निशाना बनाने का आ’रोप लगाया गया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि पाकिस्तानी नेतृत्व की यह ‘अजीबो-गरीब टिप्पणी’ देश (पाकिस्तान) के आं’तरिक हालात से ‘निपटने के लचर प्रयासों’ से लोगों का ध्यान भट’काने की कोशिश है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि कोविड-19 के उन्मूलन पर ध्यान देने की बजाए पाकिस्तानी नेतृत्व अपने पड़ोसियों पर आधारहीन आरोप लगा रहे हैं।

श्रीवास्तव ने कहा कि अल्प’संख्यकों के मामले में उन्हें (पाकिस्तानी नेतृत्व) यही सलाह है कि वे अपने यहां अल्पसं’ख्यक समुदायों की सुध लें, जिनके साथ वास्तव में भे’दभा’व हो रहा है।

दरअसल इमरान खान ने ट्वीट किया था, ‘भारत में जिस तरह मोदी सरकार जानबूझकर और हिंसा’त्मक तरीके से मु’स्लिमों को निशाना बना रही है ताकि उसके ऊपर COVID-19 नीति को लेकर सवाल न उठें, जिसकी वजह हजारों लोग भूखे और फंस गए हैं, वह बिलकुल वही है जो जर्मनी में नाजियों ने यहूदियों के साथ किया था। यह मोदी सरकार की हिंदुत्व’वादी सोच का सबूत है।’

बता दें कि पाकिस्तान में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 869 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ कर 8,348 हो गई। सर्वाधिक प्रभावित पंजाब प्रांत में अब तक 3,822, सिंध में 2,537, खैबर-पख्तूनख्वा में 1,137, बलूचिस्तान में 376, गिलगित-बाल्टिस्तान में 257, इस्लामाबाद में 171 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में 48 मामले सामने आए हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE