कोरोना महामारी से छुटकारा मिलते ही माउंट अराफात पर उमड़ी इतनी भारी भीड़

0
135

इस साल का हज इस क्षेत्र में कोविड -19 की महामारी क बाद एक बहुत भारी भीड़ के साथ लौटा है। जैसा कि मुस्लिम तीर्थयात्रियों की भारी भीड़ ने शुक्रवार तड़के सऊदी अरब के माउंट अराफात पर प्रार्थना करना शुरू कर दिया ऐसे में कुछ ने प्रकोप को रोकने के लिए प्रतिबंधों को कड़ा किया है। इसके साथ ही वे पूरे दिन साइट पर रहेंगे, प्रार्थना करेंगे और पवित्र कुरान का पाठ करेंगे।


सूर्यास्त के बाद वे अराफात और मीना के बीच आधे रास्ते में मुजदलिफा जाएंगे, जहां वे शनिवार को प्रतीकात्मक “शैतान का पत्थर” से पहले खुले आसमान के नीचे सोयेंगे। इससे पहले मीना पंहुचने पर सभी तीर्थयात्रियो को पूर्ण टीकाकरण और negative PCR tests का प्रमाण प्रस्तुत करना आवश्यक था। गुरुवार को मीना पहुंचने पर उन्हें मास्क और सैनिटाइजर से भरे छोटे बैग दिए गए।

विज्ञापन


हज, आमतौर पर दुनिया की सबसे बड़ी वार्षिक धार्मिक सभाओं में से एक है, इस्लाम के पांच स्तंभों में से एक है और सभी मुसलमानों को अपने जीवन में कम से कम एक बार इस माध्यम से किया जाना चाहिए। 2019 में, पिछले वर्षों की तरह, दुनिया भर के लगभग 2.5 मिलियन मुसलमानों ने भाग लिया है। आपको बता दें केवल 60,000 पूर्ण टीकाकरण वाले नागरिकों और राज्य के निवासियों ने 2021 में भाग लिया, जो 2020 में कुछ हज़ार से अधिक था।

उपासकों को एक अतिरिक्त चुनौती का सामना करना पड़ा है जिसमे चिलचिलाती धूप और तापमान 42 डिग्री सेल्सियस (108 डिग्री फ़ारेनहाइट) तक बढ़ रहा है जिस कारण से उन्हें को छतरियों, प्रार्थना चटाई और यहां तक ​​कि पानी से भरी एक छोटी बाल्टी से खुद को बचाते हुए देखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here