यूएई ने कसा ऑनलाइन भीख मांगने वालो पर शिकंजा, निवासियों वा प्रवासियों सब पर है नज़र

0
296
Has tightened the noose on those who beg online, residents or migrants are all watching

आजकल एक नया ट्रेंड चला है जिसमें लोग ईमेल व्हाट्सएप या अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के द्वारा भीख मांगते हैं इसी के चलते आबू धाबी पुलिस ने निवासियों को इस तरह से किसी भी ऑनलाइन प्लेटफार्म पर अवैध रूप से भीख मांगते हुए नजर आने पर सजा का एलान किया है.

यूएई सरकार ने अपने बयान में कहा है कि आजकल लोग नाटकीय रूप से मनगढ़ंत कहानी बनाकर ऑनलाइन लोगों से अवैध रूप से पैसे मांगते हैं कई लोग यह कहानियां करते हैं कि वह किसी बीमारी के शिकार हैं या उन्हें कोई मस्जिद बनवाने के लिए पैसा चाहिए.

विज्ञापन

इसके साथ ही अन्य तरह की और कहानी भी गढ़ते हैं जिसके बाद लोग उनके झांसे में आ जाते हैं और पैसे दे देते हैं लेकिन अब इसको यूएई में पूरी तरह से illegal करार दिया गया है.

अगर कोई ऐसा काम करता है तो उसे सजा मिलेगी इसके साथ ही यूएई में पहले से ही भीख मांगना illegal था लेकिन लोग ऑनलाइन भीख मांगने का काम करने लगे यह काम बिल्कुल पारंपरिक भीख मांगने जैसा है इसलिए इसको इललीगल करा दिया है.

इसके साथ ही सरकार ने ऐसे लोगों से सतर्क रहने को कहा है जो लोग इस काम के लिए लोगों को जागरूक करते हैं और ऑनलाइन भीख मांगने के लिए निवासियों को उकसाते है.

अधिकारियों ने बताया कि भीख मांगने पर तीन महीने की कैद और कम से कम 5,000 रुपये का जुर्माना या दो में से एक सजा का प्रावधान है।

संगठित भीख मांगने पर छह महीने की कैद और कम से कम Dh100,000 का जुर्माना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here