Photo: 87 वर्षों के बाद पहली बार हागिया सोफिया मस्जिद में हुई ईद की नमाज

87 साल के अंतराल के बाद गुरुवार को तुर्की के इस्तांबुल की प्रतिष्ठित हागिया सोफिया मस्जिद में ईद की नमाज़ अदा की गई।

तुर्की के शीर्ष धार्मिक निकाय डायनेट के प्रमुख अली एरबास के नेतृत्व में हजारों मुसलमान नमाज में शामिल हुए। एरबस ने अपने हाथ में तलवार पकड़े ईद का खुतबा दिया, एक सदियों पुरानी ओटोमन परंपरा जो विजय का प्रतीक है।

उन्होंने कहा, “ये छुट्टियां असाधारण समय के दौरान आयोजित की जा रही हैं जो हमें परिभाषित करती हैं, हमारे दिलों को एकजुट करती हैं, और हमारे भाईचारे को मजबूत करती हैं।” उन्होने फिलिस्तीनियों के लिए विशेष दुआ की, जो इजराय’ली बलों के ह’मले का सामना कर रहे हैं।

एरबस ने कहा, “इज़रा’इल का प्रयास, जो रमजान के दौरान भी अपने आक्रामक रवैये को नहीं छोड़ता है, पवित्र शहर यरूश’लेम और हमारे पहले क़िबला, मस्जिद अल-अ’क्सा पर कब्जा करने के लिए, सभी मुसलमानों के लिए बहुत दुख और दर्द लाता है।”

उन्होने कहा, “हमारे निर्दोष फिलिस्तीनी भाइयों और बहनों को जबरन उनके घरों से निकाला जा रहा है और नरसं*हार के अधीन किया गया है,” उन्होंने कहा, यह देखते हुए कि फिलि’स्तीन और अल-अ’क्सा जल्द मुक्त होगी।