इस्लाम यूरोपीय इतिहास और संस्कृति का हिस्सा: पूर्व पुर्तगाली मंत्री

पुर्तगाल के एक पूर्व मंत्री ने कहा कि इस्लाम यूरोपीय इतिहास और संस्कृति का हिस्सा है, न कि बाहर से आया हुआ है।

पुर्तगाली सरकार की और 2013 से 2015 के बीच यूरोप मंत्री रही ब्रूनो मैकास ने कहा कि “यूरोप में गौरवशाली इतिहास … मुझे आशा है कि इसे समझा जा सकता है, और हम न केवल इस्लाम के साथ अच्छे संबंध रखने की ओर बढ़ सकते हैं, बल्कि वास्तव में समझते हैं कि यह यूरोपीय इतिहास और संस्कृति का हिस्सा है…. विशेषकर बाल्कन में, स्पेन और अन्य भागों में, और अब बड़ी आबादी वाले कई यूरोपीय शहरों में।”

उन्होने आगे कहा, “तो यह एक विदेशी धर्म नहीं है, यह हमारा एक हिस्सा है, और यूरोप में कुछ विविधता, जीवंतता बहाल करने में मदद कर सकता है। हमें इसकी आवश्यकता है।” यूरोप का सबसे तेजी से बढ़ता धर्म माने जाने वाले इस्लाम की मौजूदगी 8वीं सदी से महाद्वीप पर है। मुसलमानों ने स्पेन में एक शानदार सभ्यता की स्थापना की, और बाद में दक्षिण-पूर्वी यूरोप की ओर विस्तार किया।

इस्लाम पर फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन की विवादास्पद टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर मैकास ने कहा: “यह तय करना राजनेताओं पर निर्भर नहीं है कि धर्म संकट में हैं या नहीं, यह हर धर्म के भाग्य पर है।” यूरोप में बढ़ते इस्ला’मोफोबि’या के बारे में, मैकास ने कहा, “हां, यह एक बड़ी समस्या है,” और “बहुत ही चिंताजनक” क्योंकि यह फ्रांस तक सीमित नहीं है, ऑस्ट्रिया जैसे देशों में अल्पसंख्यकों के प्रति न’स्लवाद और नफ’रत की ओर इशारा करता है।

ब्रूनो मैकास ने कहा, “ऑस्ट्रिया में, राजनीतिक इस्लाम के खिलाफ एक कानून बनाने का विचार था और कोई भी अच्छी तरह से नहीं जानता कि राजनीतिक इस्लाम का व्यवहार में क्या अर्थ है।” उन्होंने कहा, “मुझे जो चिंता है वह यह है कि यह केवल अलग-अलग घटनाओं तक सीमित नहीं है, बल्कि कभी-कभी यह स्वयं राजनेताओं से आता है।”