UN, अरब लीग, OIC के बाद अब यूरोपीय यूनियन ने भी ‘डील ऑफ सेंचुरी’ खारिज की

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा इजरायल और फिलिस्तीन के सबंध में पेश की गई ‘डील ऑफ सेंचुरी’ को यूरोपीय यूनियन ने खारिज कर दिया है। इससे पहले सयुंक्त राष्ट्र, अरब लीग, ओआईसी पहले ही खारिज कर चुका है।

यूरोपीय संघ ने मंगलवार को इस प्रस्ताव को खारिज करते हुए फिलीस्तीनी भूमि को हड़पने की इजरायल की योजनाओं के बारे में चिंता भी व्यक्त की। यूरोपीय संघ के विदेश नीति के प्रमुख जोसेप बोरेल ने 1967 की सीमाओं के आधार पर दो राज्यों के समाधान पर ज़ोर दिया। जिसमे फिलिस्तीन के, सन्निहित, संप्रभु और व्यवहार्य राज्य भी हो”

बोरेल ने कहा कि अमेरिकी पहल “इन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सहमत मापदंडों से दूर करती ह। बोरेल ने कहा, “एक न्यायसंगत और स्थायी शांति बनाने के लिए, दोनों पक्षों के बीच सीधी बातचीत के माध्यम से अनसुलझे अंतिम स्थिति के मुद्दों को तय किया जाना चाहिए।” इसमें सीमाओं से जुड़े मुद्दे, यरुशलम की स्थिति, सुरक्षा और शरणार्थी प्रश्न शामिल हैं।

ट्रम्प की योजना का इजरायल के प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू द्वारा स्वागत किया गया था, लेकिन फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने इसे “बकवास” के रूप में खारिज कर दिया है, खाड़ी अरब राज्यों ने भी व्हाइट हाउस की योजना को “पक्षपातपूर्ण” के रूप में खारिज कर दिया।

बोरेल ने कहा, “हम विशेष रूप से जॉर्डन घाटी और वेस्ट बैंक के अन्य भागों के हड़पे जाने की संभावना के बयानों से चिंतित हैं।” उन्होंने सुझाव दिया कि यूरोपीय संघ कानूनी कार्रवाई पर यह कहकर विचार कर सकता है कि “यदि कब्जा करने की दिशा में कोई कदम उठाया जाता है, यदि उसे कार्यान्वित किया जाता है, तो वह अनियंत्रित नहीं हो सकता है।”


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE