लीबिया में तुर्की सेराज के लिए अपना समर्थन बढ़ायेगा: एर्दोगन

राष्ट्रपति तैय्यप एर्दोगन ने गुरुवार को कहा कि तुर्की लीबिया के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त नेता फ़येज़ अल सेराज के लिए अपना समर्थन बढ़ाएगा। रॉयटर्स की रिपोर्ट के तहत केवल वहां के संघर्ष को राजनीतिक रूप से हल किया जा सकता है।

अंकारा में सेराज के साथ एक संवाददाता सम्मेलन में, एर्दोगन ने कहा कि तुर्की और लीबिया पूर्वी भूमध्य सागर में तेल के लिए अन्वेषण और ड्रिलिंग को भी आगे बढ़ाएंगे। एर्दोगन ने कहा कि पूर्वी कमांडर खलीफा हफ्तार और उनके समर्थक शांति के लिए सबसे बड़ी बाधा हैं। संयुक्त अरब अमीरात, रूस और मिस्र द्वारा समर्थित हफ्तार की सेनाएं अप्रैल 2019 से त्रिपोली पर हमला कर रही हैं, लेकिन हाल के महीनों में वापस धकेल दिया गया है।

इससे पहले तुर्की के विदेश मंत्री मेव्लुट आउवुसोलु ने जोर देकर कहा कि खलीफा हफ्तार के नेतृत्व वाली लीबिया की राष्ट्रीय सेना अंकारा समर्थित राष्ट्रीय समझौते (जीएनए) के खिलाफ लड़ाई को हल करने में सक्षम नहीं होगी।

आउवुसोलु ने बुधवार को तुर्की चैनल 24 टीवी के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि हफ्तार अभी भी एक राजनीतिक समाधान से दूर है, यह देखते हुए कि मिस्र, संयुक्त अरब अमीरात और फ्रांस जैसे देश राष्ट्रीय सेना का समर्थन करना जारी रखते हैं, हाल के समय में जिनके हम’लों में वृद्धि हुई है।

विदेश मंत्री ने कहा: “त्रिपोली से ट्यूनीशिया के समुद्र तट का नियंत्रण और अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डों का नियंत्रण, वास्तव में इस लड़ाई को जीतने में हैदर की असमर्थता का संकेत है।” मंत्री ने पुष्टि की कि इससे त्रिपोली-आधारित जीएनए को धक्का लगा: “उन हम’लों को फिर से शुरू करके जवाबी हम’ला किया और महत्वपूर्ण क्षेत्रों पर नियंत्रण हासिल किया।”


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE